Friday , October 20 2017
Home / World / हाफ़िज़ सईद , आतंक वादीओं को सूधारने में मसरूफ़

हाफ़िज़ सईद , आतंक वादीओं को सूधारने में मसरूफ़

अमरीका ने जिस जंगजू के सर पर एक करोड़ डालर का इनाम रखा है इस के बारे में पाकिस्तान का कहना है कि वो इस्लामी स्कोलर है और दहश्तगरदों की इस्लाह का काम कर रहा है।

अमरीका ने जिस जंगजू के सर पर एक करोड़ डालर का इनाम रखा है इस के बारे में पाकिस्तान का कहना है कि वो इस्लामी स्कोलर है और दहश्तगरदों की इस्लाह का काम कर रहा है।

जमात दावा का सरबराह हाफ़िज़ सईद पर हिंदुस्तान की सनअती राजधानी मुंबई में 2008 में हुए दहश्त गरदाना हमले की साज़िश का शुबा है जिस में 166 लोग मारे गए थे। अमरीका ने हाल ही में इस के सर पर एक करोड़ डालर के इनाम का एलान किया है।लेकिन पाकिस्तान के दहश्तगर्दी रोकने की मुहिम के एक अफ़्सर के मुताबिक़ हाफ़िज़ सईद दहश्तगर्दी को सुधारने की मुहिम में मसरूफ़ है और इसी सिलसिला में इस ने हाल ही में सूबा पंजाब के आफ़िसरान से मुलाक़ात की थी।

अफ़्सर ने राईटर को बताया हाफ़िज़ सईद ने दहश्तगर्दी और जिहादीयों की इस्लाह के लिए पंजाब सरकार के प्रोग्राम से इत्तिफ़ाक़ किया है और वो इस मुआमला में भरपूर मदद करने को तैयार हैं।सूबा पंजाब के एक सरकरदा पुलिस अफ़्सर ने भी कहा कि हाफ़िज़ और इस के हामी दहश्तगरदों को अच्छे शहरी बनने में मदद कर रहे हैं।

अफ़्सर ने कहा हम ने इस मंसूबा के बारे में जमात दावा से मश्वरा किया था । इस तंज़ीम ने दहश्तगरदों और जिहादीयों की इस्लाह में अपनी जानिब से भरपूर मदद देने का यक़ीन दिलाया है।हालाँकि जमात दावा के तर्जुमान यहया मुजाहिद ने कहा कि इन की तंज़ीम ने दहश्तगरदों को सुधारने के प्रोग्राम में हिस्सा नहीं लिया है।

तंज़ीम के एक और सीनीयर रुकन हफ़ीज़ ख़ालिद वलीद ने इस पर राय ज़नी करने से इनकार कर दिया कि हाफ़िज़ सईद दहश्तगर्दी की इस्लाह की मुहिम में बराह-ए-रास्त शामिल हैं।वलीद ने कहा कि सईद और उन के पैरोकार अदम तशद्दुद को बढ़ावा देने में लगे हैं। उन्हों ने कहा कि हाफ़िज़ सईद दहश्तगर्दी और ख़ुदकुश हमलों पर नुक्ता चीनी करने वाले पहले आलीम ए दिन हैं। हमारे स्कूलों और मदरसों में इस की तालीम दी जाती है।

TOPPOPULARRECENT