Sunday , September 24 2017
Home / AP/Telangana / हालात बिगड़ते हैं तो नियंत्रण करना मुश्किल हो जाएगा: इंटेलिजेंस

हालात बिगड़ते हैं तो नियंत्रण करना मुश्किल हो जाएगा: इंटेलिजेंस

हैदराबाद 02 दिसंबर: मुद्रा संकट सेंट्रल इंटेलिजेंस ने केंद्र को रिपोर्ट पेश कर के हालत बगड़जाने कि चिंताओं को व्यक्त किया। स्थिति तनावपूर्ण हो जाने के मामले में नियंत्रण करना मुश्किल हो जाने की चेतावनी दी। सभी बैंकों और एटीएम्स के पास पुलिस का उचित प्रबंधन करने की सलाह दी क्योंकि 24 दिन बाद भी हालात सामान्य नहीं आए। कई बैंकों और एटीएम केंद्रों पर मुद्रा नहीं पहुंच पाई और जहां पहुंच पाई वे कम मात्रा में है।

कई बैंकों और एटीएम केंद्रों पर नो कॅश बोर्ड लटका दिए गए। घंटों पंक्तियों में ठहरने के बावजूद निराशा जनता के हाथ आई है। जनता ने कई स्थानों पर अपनी नाराज़गी जताई। बैंक कर्मचारी से बहस व तकरार की है। महिला बैंक कर्मचारियों विदा के लिए आवेदन पेश कर रही हैं।

ग्रामीण क्षेत्रों के बैंकों को पैसा रवाना न करने की शिकायतें प्राप्त हो रही हैं। पैसा! पैसा! पैसा हर भाषा से यही सुनने को मिल रहा है और हर कोई पैसे को लेकर परेशान हैं। पहली तारीख को हर कोई खुश होता है मगर आज जनता के चेहरे पर निराशा और माथे पर शिकन देखी गई है।

8 नवंबर से मुद्रा संकट का शिकार रहने वाले गरीब और मध्यम वर्ग के लोगों को यह उम्मीद थी कि उन्हें एक दिसंबर को कुछ हद तक राहत मिलेगी मगर आज एक बार फिर उनके अरमानों पर पानी फिर गया।

आरबीआई ने मांग के अनुसार बैंकों को पैसे रवाना नहीं किया है। जिस पर बैंक मनेजरस और अन्य स्टाफ परेशान हैं। धन की इजराई में अपनी बेबसी व्यक्त कर रहे हैं। शहरी क्षेत्रों के बैंकों और एटीएम केंद्रों में रोज़आना से कुछ ज्यादा ही कयाश रवाना किया गया है। मगर ग्रामीण क्षेत्रों के बैंकों में राशि रवाना न करते हुए जनता को निराश कर दिया है।

शहरी क्षेत्रों में 1526 बैंकों और बराँचस हैं जिनमें 1100 बैंकों और बराँचस को कोई पैसा रवाना नहीं किया गया। या नाममात्र धन रवाना किया गया जो घंटे दो घंटे में समाप्त हो गया। राज्य के अन्य शहरी क्षेत्रों के 674 बैंकों और उनके बराँचस हैं जिनमें 500 बैंकों और उनके बराँचस को कोई पैसा रवाना नहीं किया गया। यह थोड़े धन रवाना किए गए हैं।

जनता को अपने ही पैसे निकालने में कठिनाई का सामना हो रही है और उनके सब्र का पैमाना भर रहा है। सेंट्रल इंटेलिजेंस ने हालात का बारीकी से समीक्षा लेने के बाद केंद्र को रिपोर्ट पेश की। हालात बेकाबू हो जाने की संभावना भी व्यक्त किया है। एक दिसंबर से बैंकों और एटीएम के सामने पुलिस को निर्धारित करने का सुझाव दिया। हालात बिगड़ जाने पर नियंत्रण करने में कठिनाई पैदा हो जाने का भी चेतावनी दी है जिसके बाद केंद्र सरकार और आरबीआई ने सभी राज्यों के डीजीपी के बैंकों और एटीएम के पास पुलिस तैनात करने की सलाह दी है।

TOPPOPULARRECENT