Saturday , October 21 2017
Home / Islami Duniya / हिंदुस्तान से दोस्ती-ओ-तआवुन की पॉलीसी जारी रहेगी

हिंदुस्तान से दोस्ती-ओ-तआवुन की पॉलीसी जारी रहेगी

ईस्लामाबाद, 30 जून: ( पी टी आई ) वज़ीर ए आज़म पाकिस्ता नवाज़ शरीफ़ ने कहा कि उन की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग ने अपने साबिक़ा दौर‍ ए‍ इक्तेतदार से ही हिंदुस्तान के साथ दोस्ती और तआवुन की पॉलीसी पर अमल पैरा रही है और वो अब भी इसी पॉलीसी पर

ईस्लामाबाद, 30 जून: ( पी टी आई ) वज़ीर ए आज़म पाकिस्ता नवाज़ शरीफ़ ने कहा कि उन की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग ने अपने साबिक़ा दौर‍ ए‍ इक्तेतदार से ही हिंदुस्तान के साथ दोस्ती और तआवुन की पॉलीसी पर अमल पैरा रही है और वो अब भी इसी पॉलीसी पर अमल जारी रखेगी ताकि इलाक़ा में अमन और ख़ुशहाली को फ़रोग़ दिया जा सके ।

वज़ीर ए आज़म ने पाकिस्तान हिंदूस्तान मुशतर्का बिज़नस कौंसल के इजलास के दौरान इस ख़्याल का इज़हार किया । ये इजलास वज़ीर ए आज़म की क़ियामगाह पर मुनाक़िद हुआ था । दफ़्तर वज़ीर ए आज़म ने ये बात बताई । एक सरकारी बयान में कहा गया है कि वज़ीर ए आज़म नवाज़ शरीफ़ की हमेशा ही से ये दिली ख़ाहिश रही है कि दोनों जुनूबी एशाई पड़ोसी ममालिक के आवाम को एक दूसरे से करीब लाया जाये ताकि एक दूसरे के तजुर्बात से उन्हें फ़ायदा हासिल हो सके ।

‍पाकिस्तान हिंदूस्तान मुशतर्का बिज़नस कौंसल के तहत हिंदुस्तानी ताजिरों के दौरा-ए-पाकिस्तान पर अपने इत्मीनान का इज़हार करते हुए नवाज़ शरीफ़ ने कहा कि ये बात बहुत अच्छी है कि दोनों ममालिक एक दूसरे के साथ बैठ कर बाहमी तौर पर तबादला ख़्याल कर रहे हैं।

वज़ीर ए आज़म ने इस इजलास से ख़िताब करते हुए कहा कि उन्होंने वज़ीर आब-ओ-बर्क़ी ख़्वाजा मुहम्मद आसिफ़ को हिदायत दी है कि वो हिंदुस्तान का दौरा करें ताकि दोनों मुल्कों के माबेन तआवुन-ओ-इश्तिराक को नई जिहत देने के इम्कानात का जायज़ा लिया जा सके ।

मिस्टर शफ़ ने ताजिरों से कहा कि उन की हुकूमत सरमायाकारों के लिए साज़गार पालिसीयों पर अमल कर रही है । उन्होंने कहा कि हमारे मुल्क में बर्क़ी की क़िल्लत है और बर्क़ी शोबा में की जाने वाली मदद से इस मसले को हल करने में मदद मिलेगी । कौंसल के हिंदुस्तानी अरकान ने वज़ीर आज़म को नोटिफाइ किया कि चूँकि दोनों ममालिक एक इलाक़ा में हैं और उन्हें एक जैसे मसाइल का सामना है

हिंदुस्तान मेडीकल साईंस आली तालीम और फ़न्नी-ओ-वोकेशनल तालीम के मैदान में पाकिस्तान को काफ़ी मदद कर सकता है । इजलास में अदम इम्तियाज़ी मार्केट तक रसाई जैसे मसले पर ग़ौर किया गया और इस बात से इत्तिफ़ाक़ किया गया कि दोनों मुल्कों के सनअतकारों को उन के तजुर्बात को बरुए कार लाने का मौक़ा दिया जाना चाहीए ।

TOPPOPULARRECENT