Thursday , October 19 2017
Home / Featured News / हिंदु लड़की की जान बचाने के लिए मुस्लिम लड़की को मिला बहादुरी पुरूस्कार

हिंदु लड़की की जान बचाने के लिए मुस्लिम लड़की को मिला बहादुरी पुरूस्कार

image
देश में सांप्रदायिक माहौल के बीच, यह कहानी ऐसे लोगों के लिए सबक़ है जो नफरत फैलाने की कोशिश कर रहे हैं |

अगस्त में अपहर्ताओं से एक 6 वर्षीय हिंदू लड़की ‘डिंपी ‘ को बचाने के लिए 15 वर्षीय नाज़िया को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रानी लक्ष्मी बाई वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया है ।

रिपोर्टों के अनुसार, नाजिया एसएफ़एम इंटर कॉलेज की छात्रा है एक दिन जब उसने घर लौटते हुए एक 6 साल की लड़की को मदद के लिए रोता सुना और देखा कि दो युवक उसको जबरन मोटरसाइकिल पर ले जा रहा थे |

अपनी ख़ुद की हिफाज़त की परवाह न करते हुए नाज़िया ने उस लड़की की मदद की और उसे अपहर्ताओं के चुंगल से छुड़ाने में कामयाब रही |

नाजिया ने बताया कि चूंकि यह घटना सदर भट्टी इलाक़े की है, जो उनके स्कूल से सिर्फ 100 मीटर दूर है वह डिंपी को लेकर स्कूल की प्रिंसिपल के पास पहुंची “डिंपी रो रही थी। बाद में स्कूल के अधिकारियों ने पुलिस को सूचित किया, नाजिया डिंपी को उसके घर ले गयी|नाज़िया ने बताया कि , अब डिंपी के घर में नाज़िया के साथ एक बेटी की तरह व्यवहार किया जाता है|

नाज़िया को डिंपी को बचाने के बाद मालूम हुआ कि डिंपी उसकी जूनियर है |

डिंपी के माता-पिता अपहर्ताओं के चंगुल से अपने बेटी डिंपी को बचाने के लिए नाज़िया के बहुत शुक्रगुज़ार हैं |

इस बारे में जब डिंपी से बात की गयी डिंपी ने बताया कि वह बहुत ख़ुश है की ‘दीदी’ को उसकी बहादुरी के लिए सम्मानित किया गया ,उसने कहा कि अगर वह उस दिन वहां नहीं होती तो वह लोग मुझे ले जाते |

TOPPOPULARRECENT