Friday , October 20 2017
Home / Sports / हिंदूस्तानी टीम की नंबर वन मुक़ाम पर जल्द वापसी होगी: मुरली

हिंदूस्तानी टीम की नंबर वन मुक़ाम पर जल्द वापसी होगी: मुरली

नई दिल्ली 22 सितंबर (पी टी आई) हिंदूस्तानी क्रिकेट टीम का मायूसकुन दौरा-ए-इंगलैंड सब पर अयाँ है जहां हिंदूस्तानी टीम को एक भी कामयाबी हासिल नहीं हुई। इलावा अज़ीं उसे टेसट क्रिकेट की दर्जा बिन्दी में अपना नंबर एक मुक़ाम गंवाना पड़ा लेकिन सिरी लंकाई क्रिकेट टीम के साबिक़ आफ़ स्पिन्नर मिथ्या मुरलीधरन समझते हैं कि हिंदूस्तानी क्रिकेट टीम बहुत जल्द दुबारा नंबर एक मुक़ाम पर वापसी करेगी। हिंदूस्तानी टीम इंगलैंड के दौरा पर टेसट में बहैसीयत नंबर एक टीम पहुंची थी लेकिन उसे 4 टसट मुक़ाबलों की सीरीज़ में 0-4 का वाईट वाश बर्दाश्त करना पड़ा। इलावा अज़ीं 50 ओवर्स की क्रिकेट की आलमी चैंपीयन हिंदूस्तानी टीम को 5 वनडे मुक़ाबलों की सीरीज़ में 0-3 की शिकस्त बर्दाश्त करनी पड़ी जो कि बारिश से मुतास्सिर रही। इस के बावजूद मिथ्या मुरलीधरन मानते हैं कि हिंदूस्तानी टीम बहुत जल्द नंबर एक मुक़ाम पर पहुंच जाएगी। मुरलीधरन ने कहा कि हिंदूस्तान एक बेहतरीन टीम है और सिर्फ एक नाकाम सीरीज़ की वजह से उसे अपना दर्जा गंवाना पड़ा लेकिन इस के बावजूद हिंदूस्तानी टीम बासलाहीयत खिलाड़ियों पर मुश्तमिल है। आस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ हिंदूस्तानी टीम को वापसी का बेहतरीन मौक़ा रहेगा जो फ़िलहाल अपने बेहतरीन फ़ार्म में नहीं हैं। मुरली ने मज़ीद कहा कि दौरा-ए-इंगलैंड पर हिंदूस्तानी टीम के कई अहम खिलाड़ी ज़ख़मी हुए और उन के ख़िदमात टीम को दस्तयाब नहीं रही। ताहम महेंद्र सिंह धोनी की टीम बहुत जल्द नंबर एक मुक़ाम पर वापिस आएगी। दौरा-ए-इंगलैंड पर हिंदूस्तानी टीम के नाक़िस मुज़ाहिरों पर हर किसी ने तन्क़ीद की है लेकिन टसट क्रिकेट में सब से ज़्यादा विकटें हासिल करने वाले मुरलीधरन इन तन्क़ीदों से इत्तिफ़ाक़ नहीं करते और वो कहते हैं कि इंगलैंड में वीरेंद्र सहवाग, युवराज सिंह और गौतम गंभीर का ज़ख़मी होना भी हिंदूस्तानी टीम के लिए नुक़्सानदेह रहा। हरभजन सिंह जिन के नाम 406 टसट और 259 वनडे विकटें दर्ज हैं ताहम दौरा-ए-वैस्ट इंडीज़ और इंगलैंड पर उन के मुज़ाहिरे मायूसकुन रहे लेकिन मुरली समझते हैं कि हरभजन सिंह को आराम की ज़रूरत है जिस के बाद ही वो बेहतरीन वापसी करसकते हैं क्योंकि हरभजन सिंह हनूज़ जवान हैं और उन में तक़रीबन 5 ता 6 साल की क्रिकेट अभी बाक़ी है।

TOPPOPULARRECENT