Sunday , October 22 2017
Home / Business / हिंदूस्तानी बासमती चावल की चीन को बरामद

हिंदूस्तानी बासमती चावल की चीन को बरामद

चीन ने पहली बार हिंदूस्तान से बासमती चावल की दरआमद की इजाज़त दे दी। इस फैसला का ख़ैरमक़दम करते हुए सिफ़ारत ख़ाना के ओहदेदारों ने कहा कि इस से हिंदूस्तानी ताजिरों के लिए चीनी बाज़ार में दाख़िल होने की सख़्त मुहिम दरपेश होगी जिन पर थाईलै

चीन ने पहली बार हिंदूस्तान से बासमती चावल की दरआमद की इजाज़त दे दी। इस फैसला का ख़ैरमक़दम करते हुए सिफ़ारत ख़ाना के ओहदेदारों ने कहा कि इस से हिंदूस्तानी ताजिरों के लिए चीनी बाज़ार में दाख़िल होने की सख़्त मुहिम दरपेश होगी जिन पर थाईलैंड के मुख़्तलिफ़ इक़्साम के चावलों का ग़लबा है और ये इतना ज़्यादा है कि पाकिस्तानी ख़ुशबूदार चावल इस के मुक़ाबला में बहुत कम फ़रोख्त होता है।

हिंदूस्तान के सफ़ीर बराए चीन इस जय शंकर ने कहा कि ये एक बहुत मुसबत इक़दाम है। चीन के फैसला पर रद्द-ए-अमल ज़ाहिर करते हुए उन्होंने कहा कि हिंदूस्तान बासमती चावल की फ़सल उगाने वालों से रब्त बरक़रार रखे हुए हैं ताकि इस पैदावार में मज़ीद इज़ाफ़ा किया जा सके।

उन्होंने कहा कि हिंदूस्तान का सिफ़ारत ख़ाना एक तशहेरी मुहिम का मंसूबा बना रहा है ताकि चीनी बाज़ारों में बासमती चावल की मक़्बूलियत में इज़ाफ़ा हो सके। सिफ़ारत कारों ने कहा कि ये एक सिफ़ारती कामयाबी है क्योंकि चीन हिंदूस्तान की जानिब से 2006 में इस आला मयारी हिंदूस्तानी चावल के लिए चीन के बाज़ारों को खोल देने की पहली बार ख़ाहिश करने के बाद इसके लिए मुसलसल कोशिश कर रहा था।

ये मंज़ूरी चीनी सरकारी महकमों में बासमती चावल की मुकम्मल जांच करने के बाद दी गई है । हिंदूस्तानी बासमती चावल की गैर मौजूदगी में पाकिस्तानी बासमती चावल स्टार होटलों और हिंदूस्तानी रेस्टूरेंट में कसीर मिक़दार में इस्तेमाल किया जाता था जो पूरे चीन में फ़रोख्त होता है ।

TOPPOPULARRECENT