Friday , October 20 2017
Home / India / हिन्दुस्तानी सरज़मीन पर चीन की दरअंदाज़ी का तनाज़ा

हिन्दुस्तानी सरज़मीन पर चीन की दरअंदाज़ी का तनाज़ा

नई दिल्ली /24 अप्रैल ( पी टी आई ) हिन्दुस्तान के मुक़ामी फ़ौजी कमांडरस और चीन के कमांडरस आज एक पर्चम इजलास मुनाक़िद कर रहे हैं ताकि चीनी फ़ौजियों की लदाग़ के दौलत बैग सेक्टर में दरअंदाज़ी की वजह से पैदा होने वाली सूरत-ए-हाल पर क़ाबू पाया जा सक

नई दिल्ली /24 अप्रैल ( पी टी आई ) हिन्दुस्तान के मुक़ामी फ़ौजी कमांडरस और चीन के कमांडरस आज एक पर्चम इजलास मुनाक़िद कर रहे हैं ताकि चीनी फ़ौजियों की लदाग़ के दौलत बैग सेक्टर में दरअंदाज़ी की वजह से पैदा होने वाली सूरत-ए-हाल पर क़ाबू पाया जा सके ।

ये इजलास दौलत बैग सेक्टर में 10.30 बजे दिन शुरू हुआ । हिन्दुस्तान ने पिछ्ले हफ़्ते चीनी दरअंदाज़ी के इल्म होने का मसला उठाया । चीनी सफ़ीर को तलब करने के अलावा जवाइंट सैक्रेटरी वज़ारत ख़ारिज उमूर ने जो हिंद । चीन मुशतर्का वर्किंग निज़ाम की क़ियादत भी कर रहे हैं । ताकि हिन्दुस्तान की सरज़मीन पर सरहद पार से दरअंदाज़ी के मसाइल की यकसूई की जा सके , कहा कि पिछ्ले हफ़्ते चीनी फ़ौजियों ने हिन्दुस्तान के इलाक़े में बलाकसी इश्तिआल दरअंदाज़ी की थी ।

मोतमिद ख़ारिजा रंजन मथाई ने चीनी सफ़ीर वी वी को अपने दफ़्तर में तलब किया था और इस मसले की फ़ौरी यकसूई पर ज़ोर दिया था । हुकूमत चीन ने भी कहा कि वो इस मसले का जायज़ा लेगी और हकूमत-ए-हिन्द को मुनासिब जवाब दिया जाएगा । ताहम नई दिल्ली में चीनी सिफ़ारत ख़ाना से रब्त पैदा करने पर सिफ़ारत ख़ाना ने कहा कि वज़ारत-ए-ख़ारजा के तर्जुमान ने कल बीजिंग में इस मसले पर जामि तबसरा करदिया है ।

चीन की वज़ारत-ए-ख़ारजा के तर्जुमान चुन अंग ने कहा था कि हमारी सरहदी फ़ौज ख़त क़बज़ा के बाद चीनी सरज़मीन में तलएआ गर्दी कर रही थीं । वो ख़त क़बज़ा के बाद कभी नई गई । चीनी सिफ़ारत ख़ाना में ये सरकारी मौक़िफ़ बरक़रार रखा है कि चीन हिन्दुस्तान जैसा तआवुन और हम आहंगी केलिए तय्यार है ताकि तमाम सरहदी तनाज़आत की यकसूई मुम्किन होसके ।

चीन की पीपुल्स लीबरेशन आर्मी की एक दौलत बैग सेक्टर में हिन्दुस्तानी सरज़मीन पर 10 कीलोमीटर के फ़ासले तक दरअंदाज़ी गुज़िशता हफ़्ता करचुकी हैं । 15 अप्रैल की रात को 17 हज़ार फीट की बुलंद सरज़मीन पर ये दरअंदाज़ी की गई थी और वहां ख़ेमे नसब किए गए थे ।

TOPPOPULARRECENT