Monday , October 23 2017
Home / India / हिन्दुस्तान की तेज़ रफ़्तार तरक़्क़ी यक़ीनी बनाने इख़तिराई बनने सरकारी ओहदेदारों को वज़ीर-ए-आज़म का मश्वरा

हिन्दुस्तान की तेज़ रफ़्तार तरक़्क़ी यक़ीनी बनाने इख़तिराई बनने सरकारी ओहदेदारों को वज़ीर-ए-आज़म का मश्वरा

नई दिल्ली 22 अप्रैल ( पी टी आई )वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह ने आज कहा कि सरकारी ओहदेदारों को इख़तिराई और सनअत कारों जैसा मेहनती बनना चाहीए ताकि मुल्क की तेज़ रफ़्तार तरक़्क़ी यक़ीनी बन सके ।

नई दिल्ली 22 अप्रैल ( पी टी आई )वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह ने आज कहा कि सरकारी ओहदेदारों को इख़तिराई और सनअत कारों जैसा मेहनती बनना चाहीए ताकि मुल्क की तेज़ रफ़्तार तरक़्क़ी यक़ीनी बन सके ।

उन्होंने कहा कि तेज़ रफ़्तार तरक़्क़ी का इन्हिसार हमारी इख़तिराई और सनअतकारी की क़ाबिलीयत पर है कई शोबों खासतौर पर इंतेज़ामीया में उसकी सख़्त ज़रूरत है । वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह यौम सियोल सर्विस तक़रीब का इफ़्तिताह कररहे थे ।

उन्होंने कहा कि मुल्क में ऐसा माहौल पैदा करने की ज़रूरत है जहां तख़लीक़ी सलाहीयत , सनअतकारों जैसी जद्द-ओ-जहद और सनातकारी की हौसलाअफ़्ज़ाई की जाती हो और उन्हें इनाम दिया जाता हो ।

वज़ीर-ए-आज़म ने सरकारी ओहदेदारों को अवामी इंतेज़ामीया बिशमोल तालीमी इक़दामात जो नक्सलाइट ज़ेर-ए-असर छत्तीसगढ़ के ज़िला दंतेवाड़ा में किए गए हैं और अवाम को शख़्सी ख़ा करूबी से नजात दिलाने के इक़दामात केलिए इनामात अता किए ।

हुकूमत सिक्किम को भी वज़ीर-ए-आज़म ने देही इंतेज़ामीया और तर कुयात केलिए जबकि माहौल अमली एतबार से चैलेंजों से भरपूर था इनाम अता किया । सिक्किम एक हमालयाई रियासत है जहां सेहत-ओ-सफ़ाई और देही रोज़गार तमानीयत स्कीम पर अमलावरी इंतिहाई मुश्किल काम है ।

TOPPOPULARRECENT