Tuesday , August 22 2017
Home / Crime / हिन्दू लड़की से इश्क में मुस्लिम लड़के की हत्या, इलाके में तनाव

हिन्दू लड़की से इश्क में मुस्लिम लड़के की हत्या, इलाके में तनाव

मुजफ्फरनगर: स्कूल के छात्र 16 वर्षीय किशोर इरशाद आलम का हिंदू लड़की से प्रेम करने के आरोप में हत्या कर दी गई। वह 18 जुलाई से लापता था। उसकी लाश एक हिंदू स्वामी ऑयल मिल के पीछे दफन कर दी गई थी। बताया जाता है कि इस लड़के ने ऑयल मिल के मालिक चंद्र सयानी की भतीजी से संबंधों किए थे। इस घटना के बाद मुजफ्फरनगर के गांव कावल में तनाव पैदा हुआ है और यह क्षेत्र 2013 के मुजफ्फरनगर दंगों का मुख्य केंद्रीय स्थान माना जाता है।

मुजफ्फरनगर दंगों के बावजूद यहाँ चंद्र सयानी और अहमद के सदस्यों परिवार शांतिपूर्ण रूप में एक पड़ोस के रूप में रहते थे। इन दोनों में कोई तनाव और झगड़ा नहीं था एक साथ खुश रहते थे कोई अप्रिय घटना नहीं आया था लेकिन इरशाद आलम जब घर वापस नहीं आया तो उसके पिता शकील अहमद ने स्थानीय मुसलमानों के साथ पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई। पुलिस ने तलाश शुरू करते हुए इरशाद के फोन काल विवरण सभा किए और उसके अंतिम टहरने के स्थान की पहचान कर ली और वह अंतिम बार सयानी की भतीजी के घर के पास देखा गया था जब उसके परिवार वालों से पूछताछ शुरू की गई तो लड़की रोपड़िय और इसमें पुलिस को कुछ सुराग हासिल हुए।

पुलिस ने सयानी के घर की तलाशी ली और ऑयल मिल के पीछे इरशाद की लाश उपलब्ध हुई। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार ने बताया कि हम इस मामले में कुछ संदेह हुआ और जब पुलिस को लड़के के फोन की विस्तृत रिपोर्ट मिली तो उसे पता चला कि वह किसी एक व्यक्ति से लगातार कड़ी में था। दिलचस्प बात तो यह है कि दोनों सिम कार्ड्स इरशाद के नाम पर ही पंजीकृत थे। इसका मतलब यह हुआ कि इस युवक ने ही लड़की को यह नंबर दिया था। आगे की जांच में पता चला कि यह लड़की उसकी पड़ोसन है जिससे वह लगातार फोन पर बात करता रहता है। लड़की के भाइयों से पूछताछ में यह पुष्टि हो गई कि लड़के का सोमवार रात अपहरण कर गला घोंट कर हत्या कर दी गई। उसकी लाश को लड़की के चाचा के एक संयंत्र में छिपा हुआ था। पुलिस ने बताया कि हम शव बरामद करके पवन और मोहन सयानी को गिरफ्तार कर लिया। दोनों भाइयों के अलावा लड़ी चाचा को भी हिरासत में लिया गया है।

हत्या की खबर फैलते ही इस क्षेत्र में तनाव पैदा हो गया। मुसलमानों ने राजनीतिक नेताओं के साथ मिलकर आंदोलन शुरू किया। स्थानीय पुलिस स्टेशन के बाहर जमा होकर आरोपियों को उनके हवाले करने की मांग की। इस क्षेत्र में अधिक पुलिस बल तैनात किया गया है।

TOPPOPULARRECENT