Friday , October 20 2017
Home / Khaas Khabar / हुक़ूक़-ए-इंसानी की ख़िलाफ़वर्ज़ीयों का ख़ातमा ज़रूरी

हुक़ूक़-ए-इंसानी की ख़िलाफ़वर्ज़ीयों का ख़ातमा ज़रूरी

हिंदूस्तान और पाकिस्तान के माबेन कश्मीर पर एतेमाद साज़ी के इक़्दामात समर आवर हुए हैं और इससे दोनों मुल्कों के माबेन एतेमाद का माहौल पैदा करने में मदद मिली है । वज़ीर ख़ारिजा पाकिस्तान हिना रब्बानी ख़र ने आज ये बात कही । हिना रब्बानी ख़

हिंदूस्तान और पाकिस्तान के माबेन कश्मीर पर एतेमाद साज़ी के इक़्दामात समर आवर हुए हैं और इससे दोनों मुल्कों के माबेन एतेमाद का माहौल पैदा करने में मदद मिली है । वज़ीर ख़ारिजा पाकिस्तान हिना रब्बानी ख़र ने आज ये बात कही । हिना रब्बानी ख़र ने कश्मीर यूरोपियन फ़ोर्म के साथ तबादला ख़्याल करते हुए कहा कि दोनों मुल्कों के माबेन कश्मीर तनाज़ा हनूज़ मर्कज़ी मुक़ाम रखता है जिस की वजह से इलाक़ा की ख़ुशहाली और तरक़्क़ी मुतास्सिर हो रही है ।

इन्होंने कहा कि पाकिस्तान मसला कश्मीर के अक़वाम-ए-मुत्तहिदा क़रार दादों और अवाम की ख़ाहिशात के मुताबिक़ मुंसिफ़ाना और पुरअमन हल का ख़ाहिशमंद है । दफ़्तार-ए-ख़ारजा से जारी कर्दा एक ब्यान में ये बात बताई गई । इस फ़ोर्म में बर्तानिया के रुकन पार्लीयामेंट स्टेव बेकर और कौंसिलर महबूब हुसैन भट्टी भी शामिल हैं।

इन्होंने वाज़िह किया कि पाकिस्तान की जमहूरी तौर पर मुंतखिब हुकूमत ने हिंदूस्तान के साथ बामानी बात चीत के लिए मुस्तक़िल और बेहतर कोशिशें की हैं। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान जम्मू-ओ-कश्मीर में मुबय्यना तौर पर हक़ूक़-ए-इंसानी की ख़िलाफ़ वर्ज़ीयों की सिम्त भी बैन अल-अक़वामी बिरादरी की तवज्जा मबज़ूल करवा रहा है । उन्होंने कहा कि पाकिस्तान चाहता है कि कश्मीर में सख़्त गैर क़वानीन को ख़त्म किया जाए । ख़र ने मिस्टर बेकर की जानिब से एवान आम में कश्मीर पर मुबाहिस के आग़ाज़ की कोशिशों की सताइश की । मिस्टर बेकर ने कहा कि वो और कश्मीर यूरोपियन फ़ोर्म की जानिब से कश्मीरी अवाम के काज़ की ताईद का सिलसिला जारी रहेगा।

TOPPOPULARRECENT