Friday , October 20 2017
Home / Hyderabad News / हुकूमत और चीफ़ मिनिस्टर के ख़िलाफ़ तन्क़ीद ( निन्दा ) ना मुनासिब

हुकूमत और चीफ़ मिनिस्टर के ख़िलाफ़ तन्क़ीद ( निन्दा ) ना मुनासिब

सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी बी सत्या नारायना ने कांग्रेस क़ाइदीन की जानिब से हुकूमत, पार्टी, इस्कीमात और चीफ़ मिनिस्टर के ख़िलाफ़ तन्क़ीदों पर सख़्त एतराज़ करते हुए कहा कि पार्टी क़ाइदीन को अपनी हद में रहना चाहीए, बसूरत-ए-दीगर (वर

सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी बी सत्या नारायना ने कांग्रेस क़ाइदीन की जानिब से हुकूमत, पार्टी, इस्कीमात और चीफ़ मिनिस्टर के ख़िलाफ़ तन्क़ीदों पर सख़्त एतराज़ करते हुए कहा कि पार्टी क़ाइदीन को अपनी हद में रहना चाहीए, बसूरत-ए-दीगर (वरना)सख़्त तादीबी( डिसिप्लीनरि) कार्रवाई का इंतिबाह दिया। आज गांधी भवन में प्रैस कान्फ़्रैंस से ख़िताब करते हुए उन्हों ने ये बात बताई।

इस मौक़ा पर सदर नशीन प्रदेश कांग्रेस मीडीया कमेटी मुहम्मद अली शब्बीर, मेडीया कोआर्डीनेटर वीदा व्यास के इलावा तर्जुमान डाक्टर एन तुलसी रेड्डी भी मौजूद थे। सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने कहा कि हालिया दिनों में कांग्रेस क़ाइदीन हुकूमत, चीफ़ मिनिस्टर और इस्कीमात पर खुले आम तन्क़ीद ( निन्दा )कर रहे हैं, जिस से ना सिर्फ अवाम में ग़लत तास्सुर(असर) पैदा हो रहा है, बल्कि पार्टी और हुकूमत की नेकनामी भी मुतास्सिर हो रही है।

वो गुज़िश्ता दो दिन से बयानबाज़ी करने वाले क़ाइदीन को शख़्सी तौर पर तलब कर के बातचीत कर रहे हैं और टेलीफ़ोन पर भी इस सिलसिले को बंद करने की हिदायत दे चुके हैं। उन्हें यक़ीन है कि पार्टी क़ाइदीन डिसिप्लीन शिकनी(तोडने) से गुरेज़ करेंगे, बसूरत-ए-दीगर(वरना) ऐसे अफ़राद के ख़िलाफ़ सख़्त तादीबी डिसिप्लीनरि) कार्रवाई की जाएगी।

सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने कहा कि रियासत में मुनाक़िद शुदनी ज़िमनी इंतिख़ाबात (मध्यावधि चुनाव ) के उम्मीदवारों की लिस्ट को क़तईयत (अंतिम रूप ) दे दी गई है, आजकल में हाईकमान की जानिब से सरकारी तौर पर एलान कर दिया जाएगा। क़तईयत (अंतिम रूप ) दी जाने वाली इमकानी उम्मीदवारों की लिस्ट पर नज़रसानी (दोबारा गौर करने)के इमकानात के सवाल का जवाब देते हुए उन्हों ने कहा कि नज़रसानी हो भी सकती है और नहीं भी।

कांग्रेस उम्मीदवारों की दिल्ली में लिस्ट तैय्यार करने पर क़ाइद अपोज़ीशन एन चंद्रा बाबू नायडू के एतराज़ की सख़्त मुज़म्मत करते हुए उन्हों ने कहा कि तेलगू देशम एक ख़ानदानी जमात है, जब कि कांग्रेस एक क़ौमी जमात है और इस का हेडक्वार्टर दिल्ली में है, इस लिए पार्टी उमूर के सारे फ़ैसले दिल्ली में किए जाते हैं। जगन मोहन रेड्डी की जानिब से फ़लाही इस्कीमात को नजरअंदाज़ करने के इल्ज़ामात को मुस्तर्द करते हुए कहा कि 2009 के इंतिख़ाबी मंशूर में जो भी वाअदे किए गए थे, उसे पूरा किया जा रहा है।

दो रुपये के हिसाब से 30 कीलो चावल देने की स्कीम पर नज़रसानी करते हुए एक रुपया कीलो चावल दिया जा रहा है। 9 घंटे मुफ़्त बर्क़ी सरबराही (सपलाइ) का जायज़ा लिया जा रहा है, किसानों और ख़वातीन को बिला सूदी क़र्ज़ फ़राहमी की स्कीम पर अमल किया जा रहा है। डाक्टर राज शेखर रेड्डी के नाम और तस्वीर के इस्तिमाल के सवाल का जवाब देते हुए उन्हों ने कहा कि हम सब डाक्टर राज शेखर रेड्डी के सयासी वारिस हैं, जब कि जगन मोहन रेड्डी दौलत और असासा जात के वारिस हैं।

TOPPOPULARRECENT