Thursday , August 17 2017
Home / Delhi News / हुकूमत की इजाज़त के बगैर पतंजलि नूडल्स की फ़रोख़त

हुकूमत की इजाज़त के बगैर पतंजलि नूडल्स की फ़रोख़त

नई दिल्ली: हुकूमत की इजाज़त के बगैर नूडल्स और पास्ता जैसी ग़िज़ाई अशिया-ए-की फ़रोख़त पर योगा गुरु बाबा राम देव के ख़िलाफ़ कार्रवाई का आज राज्य सभा में मुतालिबा किया गया। वक़फ़ा सिफ़र के दौरान ये मसला उठाते हुए जनतादल मुत्तहदा के रुकन मिस्टर के सी त्यागी ने हुकूमत से दरयाफ़त किया कि मशहूर-ए-ज़माना मैगी नूडल्स पर आइद तहदिदात की बर्ख़ास्तगी से मुताल्लिक़ मुंबई हाईकोर्ट के हुक्म के ख़िलाफ़ सुप्रीमकोर्ट में अपील क्यों दायर नहीं की गई।

मज़कूरा दोनों कंपनियों को नए दबंग से ताबीर करते हुए उन्होंने कहा कि ग़िज़ाई एशिया-ए-में नक़ाइस के बावजूद कार्रवाई नहीं की गई। उन्होंने इल्ज़ाम आइद किया कि पतंजलि नूडल्स और पास्ता को फ़ूड सेफ्टी एंड अथॉरीटी आफ़ इंडिया से मंज़ूरी के बगैर फ़रोख़त किया जा रहा है।

मिस्टर के सी त्यागी ने बताया कि हुकूमत उत्तरखनड ने ये तसदीक़ की है कि बाबा राम देव की फार्मा कंपनी ये झांसा देते हुए आयुर्वेदिक दवा फ़रोख़त कर रही है कि इस के इस्तेमाल से मर्द बच्चा पैदा होगा। उस के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की गई। उन्होंने कहा कि बाबा राम देव अपने आपको वज़ीरे आज़म नरेंद्र मोदी का करीबी साथी ज़ाहिर कर रहे हैं और ये इद्दिआ कर रहे हैं कि बी जे पी हुकूमत की तशकील के लिये तन-मन , धन से इआनत की है। उन्होंने इस्तिफ़सार किया कि मैगी नूडल्स केस में मुंबई हाईकोर्ट का फैसला क़बूल करलिया गया लेकिन सुप्रीमकोर्ट में अपील क्यों दायर नहीं की गई|

TOPPOPULARRECENT