Monday , October 23 2017
Home / India / हुकूमत को अपने वादे की याद दहानी

हुकूमत को अपने वादे की याद दहानी

नई दिल्ली मौजूदा मीआद में गंगा की सफ़ाई होगी य नहीं?सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली

मौजूदा मीआद में गंगा की सफ़ाई होगी य नहीं?सुप्रीम कोर्ट

मर्कज़ को अपने वादे पूरे करने के मामले में सुप्रीम कोर्ट से ज़्यादा हस्सास होना चाहिए । अदालत ने ये एहसास ज़ाहिर करते हुए हुकूमत से जानना चाहा कि 2500 किलो मीटर तवील दरयाए गंगा को साफ़ सुथरा बनाने का वादा क्या मौजूदा मीआद में पूरा होगा? अदालत ने कहा कि आप ने गंगा को साफ़ करने का वादा किया था चुनांचे उसे पूरा भी करना चाहिए।

इस मामले में हम (अदालत) से ज़्यादा आप (हुकूमत) को हस्सास होना चाहिए। हुकूमत मौजूदा मीआद में ये काम पूरा करना चाहती है य नहीं? जस्टिस टी एस ठाकुर ने 30 साल क़दीम मफ़ाद-ए-आम्मा की दरख़ास्त की समाअत के दौरान ये रिमार्कस किए। गंगा को आलूदगी से पाक करने केलिए अदालत में मफ़ाद-ए-आम्मा की दरख़ास्त की गई थी।जस्टिस ठाकुर इस दरख़ास्त की समाअत कर रही बेंच की क़ियादत कररहे हैं। सॉलीसिटर जनरल रणजीत कुमार ने यक़ीन दहानी कराई कि गंगा की सफ़ाई का काम 2018 तक मुकम्मल कर लिया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT