Saturday , October 21 2017
Home / Hyderabad News / हुकूमत को असेंबली इजलास जारी रखने में कोई दिलचस्पी नहीं

हुकूमत को असेंबली इजलास जारी रखने में कोई दिलचस्पी नहीं

तेलगू देशम पार्टी ने स्पीकर असेंबली मिस्टर एन मनोहर को अपने इख़्तयारात का इस्तिमाल करते हुए असेंबली इजलास जारी रखने का मश्वरा दिया और चीफ़ मिनिस्टर से शराब स्क़ाम में मोलव्विस वुज़रा को बरतरफ़ करते हुए ए सी बी रिपोर्ट असेंबली

तेलगू देशम पार्टी ने स्पीकर असेंबली मिस्टर एन मनोहर को अपने इख़्तयारात का इस्तिमाल करते हुए असेंबली इजलास जारी रखने का मश्वरा दिया और चीफ़ मिनिस्टर से शराब स्क़ाम में मोलव्विस वुज़रा को बरतरफ़ करते हुए ए सी बी रिपोर्ट असेंबली में पेश करने का मुतालिबा किया। असेंबली के मीडीया प्वाईंट पर सहाफ़ीयों से बातचीत करते हुए तेलगू देशम के विहिप मिस्टर डी नरेंद्र ने चीफ़ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी से इस्तिफ़सार किया कि शराब सेनडीकेट से उन्हें भी मामूल वसूल हुवा है?।

अगर नहीं हवा तो शराब स्क़ाम में मोलव्विस वुज़रा की बरतरफ़ी की बजाय उन्हें क्यों बचाया जा रहा है?। चीफ़ मिनिस्टर के इस इक़दाम से रियासत के अवाम में शकूक पाए जा रहे हैं। तेलगू देशम विहिप ने कहा कि ऐसा लगता है कि हुकूमत को असेंबली का इजलास चलाने से कोई दिलचस्पी नहीं है, बार बार इजलास की कार्रवाई मुल्तवी करते हुए हुकूमत अवामी मसाइल से राह फ़रार इख़तियार कर रही है।

तेलगू देशम पार्टी के असेंबली में 90 अरकान हैं और तेलगू देशम पार्टी अप्पोज़ीशन का तामीरी रोल अदा करते हुए अवामी मसाइल को मौज़ू बहस बनाने और इस की यकसूई के लिए हुकूमत के साथ मुकम्मल तआवुन करना चाहती है। चीफ़ मिनिस्टर को चाहीए कि शराब सेनडीकेट से मुताल्लिक़ ए सी बी रिपोर्ट असेंबली में पेश करें और शराब स्क़ाम में मोलव्विस वुज़रा को फ़ौरी बरतरफ़ करें।

तेलगू देशम रुक्न असेंबली मिस्टर ओमा महेश्वर राव ने कहा कि रियासत में ग़ैर यक़ीनी सयासी सूरत-ए-हाल पैदा हो गई है। निस्फ़ से ज़ाइद वुज़रा बदउनवानीयों में मोलव्विस हैं, जब कि हुकूमत बोहरान का शिकार है, इस तरह कांग्रेस पार्टी इक़तिदार से महरूम हो सकती है। उन्हों ने कहा कि बेजान कां

ग्रेस हुकूमत को सोनीया गांधी या अहमद पटेल नहीं बचा सकते। रियासत के अवाम हुकूमत से बदज़न हैं, हुकूमत तमाम महाज़ों पर नाकाम हो चुकी है। रियासत में तेलगूदेशम पार्टी अपोज़ीशन का तामीरी रोल अदा कर रही है। स्पीकर असेंबली को अपने इख़्तेयारात का इस्तिमाल करते हुए ऐवान की कार्रवाई जारी रखने की हर मुमकिन कोशिश करनी चाहीए।

TOPPOPULARRECENT