Sunday , October 22 2017
Home / India / हुकूमत को चैलेंज गिरफ़्तार कर के दिखाए: यासीन मलिक

हुकूमत को चैलेंज गिरफ़्तार कर के दिखाए: यासीन मलिक

नई दिल्ली, 10 मार्च : ( पी टी आई ) जे के एल एफ लीडर यासीन मलिक जो पाकिस्तान में लश्कर ए तैबा के सरबराह हाफ़िज़ सईद से मुलाक़ात करने पर तन्क़ीदों का शिकार हैं आज बेखौफ हो कर वतन हिंदूस्तान वापस हुए और हुकूमत को चैलेंज किया कि वो उन्हें गिरफ़

नई दिल्ली, 10 मार्च : ( पी टी आई ) जे के एल एफ लीडर यासीन मलिक जो पाकिस्तान में लश्कर ए तैबा के सरबराह हाफ़िज़ सईद से मुलाक़ात करने पर तन्क़ीदों का शिकार हैं आज बेखौफ हो कर वतन हिंदूस्तान वापस हुए और हुकूमत को चैलेंज किया कि वो उन्हें गिरफ़्तार कर के दिखाए ।

शिवसेना कारकुनों ने नई दिल्ली एयरपोर्ट पर उनकी आमद के ख़िलाफ़ एहतिजाज किया था । यासीन मलिक आज पाकिस्तान इंटरनैशनल एयरलाईन्स की परवाज़ के ज़रीया ईस्लामाबाद से नई दिल्ली पहूंचे । उनकी आमद पर अख़बारी नुमाइंदों ने पाकिस्तान में हाफ़िज़ सईद के साथ एक ही नशिस्त पर मौजूद होने से मुताल्लिक़ मुतअद्दिद सवालात किए ।

हाफ़िज़ सईद 2008 मुंबई हमलों के सिलसिला में हिंदूस्तान को मतलूब हैं । अलैहदगी पसंद लीडर ने कहा कि उन्होंने हाफ़िज़ सईद को मदऊ नहीं किया । ईस्लामाबाद में ये रैली गुज़शता माह अफ़ज़ल गुरु को फांसी देने के ख़िलाफ़ बतौर‍ एहतिजाज मुनाक़िद हुई थी ।

यासीन मलिक ने जिनके साथ एस ए आर गीलानी भी थे । कहा कि मैने क्या जुर्म किया है । ना तो मैंने उन्हें मदऊ किया और ना ही ये रैली मैंने मुनाक़िद की थी । मुझे भी इस रैली में शिरकत की दावत दी गई थी । जे के एल एफ लीडर ने कहा कि हुकूमत मेरे ख़िलाफ़ कार्रवाई करने और मेरा पासपोर्ट वापस लेने के लिये आज़ाद है ।

पासपोर्ट की मुद्दत 19 मार्च को ख़त्म हो रही है। वो जिस वक़्त अख़बारी नुमाइंदों से बात चीत कर रहे थे शिवसेना के कारकुन उन्हें मारने की कोशिश भी कर रहे थे । लेकिन पुलिस ने उनकी कोशिश को नाकाम बनाया ।

TOPPOPULARRECENT