Saturday , October 21 2017
Home / Hyderabad News / हुकूमत मुश्किलात का शिकार : दीवाकर रेड्डी

हुकूमत मुश्किलात का शिकार : दीवाकर रेड्डी

कांग्रेस के सिनयर क़ाइद साबिक़ रियासती वज़ीर मिस्टर जे सी दीवाकर रेड्डी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट की जानिब से 6 रियासती वुज़रा और 8 आई ए एस ऑफीसरस को नोटिस देने के बाद हुकूमत मुश्किलात का शिकार हो गई है । जगन मंसूबा इल्ज़ामात से बरी

कांग्रेस के सिनयर क़ाइद साबिक़ रियासती वज़ीर मिस्टर जे सी दीवाकर रेड्डी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट की जानिब से 6 रियासती वुज़रा और 8 आई ए एस ऑफीसरस को नोटिस देने के बाद हुकूमत मुश्किलात का शिकार हो गई है । जगन मंसूबा इल्ज़ामात से बरी होते हैं या वुज़रा के अतराफ़ घेरा तंग होता है इस का फैसला हुकूमत के जवाब पर मुनहसिर होगा ।

आज असेंबली के लॉबी में मीडिया से बात चीत करते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने 6 वुज़रा को और 8 आई पी एस ओहदेदारों को नोटिस दी है जिस के बाद असल अपोज़ीशन तेलगू देशम के बशमोल दूसरी अपोज़ीशन जमातों की जानिब से असेंबली में मौज़ू बहस बनाते हुए 4 दिन से असैंबली की कार्रवाई नहीं चल रही है । अवामी मसाइल असेंबली में मौज़ू बहस बनने से क़ासिर है ।

रियासत में हुकूमत मुश्किलात से दो-चार है । सही वक़्त वाई एस आर कांग्रेस पार्टी ने भी वार करते हुए हुकूमत की मुश्किलात में मज़ीद इज़ाफ़ा कर दिया है । उन्होने कहा कि अगर सदर वाई एस आर कांग्रेस पार्टी मिस्टर जगन मोहन रेड्डी गिरफ़्तार होते हैं तो वाई एस आर कांग्रेस पार्टी को इतनी अवामी हमदर्दी हासिल नहीं होगी जितनी वो तवक़्क़ो कर रहे हैं ।

वक़्त का तक़ाज़ा है चीफ मिनिस्टर मिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी वुज़रा के इलावा कांग्रेस पार्टी के अरकान असेंबली साबित क़दमी का मुज़ाहरा करें । अवाम को एतिमाद में लेने और अपोज़ीशन जमातों का मुंहतोड़ जवाब देने की हिक्मत-ए-अमली इख़तियार करें और अवाम में घुल मिल कर काम करें तभी अवाम कांग्रेस पर भरोसा करेंगे । उन्हों ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट की नोटिस पर हुकूमत का जवाब अहमियत का हामिल होगा ।।

TOPPOPULARRECENT