Thursday , June 29 2017
Home / Kashmir / हुर्रियत नेता उमर फारुक रिहा, गिलानी और मलिक को छूट नहीं

हुर्रियत नेता उमर फारुक रिहा, गिलानी और मलिक को छूट नहीं

श्रीनगर। हुर्रियत कांफ्रेंस के नरमपंथी धड़े के अध्यक्ष मीरवाइज मौलवी उमर फारुक को नजरबंदी से मुक्त कर दिया गया है जबकि कट्टरपंथी धड़े के अध्यक्ष सैयद अली शाह गिलानी नजरबंद हैं तथा जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) प्रमुख हिरासत में हैं। फारुक को शुक्रवार को राजधानी श्रीनगर स्थित भारत-पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र सैन्य पर्यवेक्षक(यूएनएमओजीआईपी) कार्यालय तक रैली की अगुवाई किए जाने से रोकने के लिए नजरबंद किया गया था।
हुर्रियत के दोनों धड़ों और जेकेएलएफ ने कश्मीर मुद्दे के समाधान और जेकेएलएफ के संस्थापक मोहम्मद मकबूल भट तथा संसद हमले के दोषी फांसी पर चढ़ाए गए अफजल गुरु के शवों को सुपुर्द किए जाने की मांग को लेकर यूएनएमओजीआईपी कार्यालय तक रैली में शामिल होने के लिए लोगों से अपील की थी। प्रशासन ने यूएनएमओजीआईपी रैली को रोकने के लिए कर्फ्यू जैसी कड़ाई की है।
एक कट्टरपंथी धड़े के प्रवक्ता अय्याज अकबर ने बताया कि दो अन्य वरिष्ठ नेताओं शब्बीर अहमद शाह और नईम अहमद खान को भी घर में नजरबंद रखा गया है। उन्होंने कहा कि अन्य अलगाववादी नेताओं को जुलाई में अनंतनाग में एक मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन (एचएम) के कमांडर बुरहान और दो अन्य उग्रवादियों की मौत के बाद पिछले साल गिरफ्तार किया।
इस बीच, मीरवाइज दक्षिण कश्मीर काजी यासिर और कई अन्य अलगाववादी नेताओं भी 9 फरवरी के बाद अनंतनाग में हिरासत में ले लिया था। जेकेएलएफ प्रमुख मलिक को कल दोपहर सराय बाला से गिरफ्तार किया गया था जब वह अपने समर्थकों के साथ यूएनएमओजीआईपी रैली का नेतृत्व करने का प्रयास कर रहा था। मलिक को बाद में पुलिस स्टेशन से स्थानांतरित कर दिया और श्रीनगर सेंट्रल जेल भेज दिया गया।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT