Monday , October 23 2017
Home / Bihar News / हुज़्ज़ाज की फ्लाइट में ताखीर, ज़मज़म से भी महरूम

हुज़्ज़ाज की फ्लाइट में ताखीर, ज़मज़म से भी महरूम

हुज़्ज़ाज की वतन वापसी में फ्लाइट को ताखीर से पहुँचने का सिलसिला जारी है। मंगल को भी हुज़्ज़ाज का पाँचवाँ काफिला अपने वक़्त मुकर्रररा 12:40 बजे के बजाए 1 घंटा 57 मिनट की ताखीर से 130 हुज़्ज़ाज को ले कर गया हवाई अड्डा पर पहुंचा। मंगल को हुज़्ज़ाज कि

हुज़्ज़ाज की वतन वापसी में फ्लाइट को ताखीर से पहुँचने का सिलसिला जारी है। मंगल को भी हुज़्ज़ाज का पाँचवाँ काफिला अपने वक़्त मुकर्रररा 12:40 बजे के बजाए 1 घंटा 57 मिनट की ताखीर से 130 हुज़्ज़ाज को ले कर गया हवाई अड्डा पर पहुंचा। मंगल को हुज़्ज़ाज किराम पाने साथ ज़मज़म और अपना समान भी साथ लाये थे। मालूम हुआ की अब तक 270 हुज़्ज़ाज किराम बेगैर ज़मज़म और समान के वतन वापसी हुये थे। जिसमें देहली की फ्लाइट से 36 हाजियों के सामान आ चुके हैं। जबकि 234 हाजियों के सामान अब भी आने बाक़ी हैं। लेकिन ज़मज़म अभी तक उन 270 हाजियों के नहीं आए जिसकी वजह से हाजियों को इसकी फिक्र भी सता रही थी। इस सिलसिले में मोती करीमी ने बताया की एक दो दिनों में हाजियों के सारे समान और ज़मज़म आने की उम्मीद है।

उन्होने मजीद कहा की एयर लाइंस के हुक्काम ने दो तीन दिनों के अंदर सारे सामान भेजने की यकीन दिहानी कराई है। मालूम हो की मंगल को फ्लाइट में ताखीर ज़रूर हुयी लेकिन हाजियों का सामान साथ में गया हवाई अड्डा पर पहुंचा और उन्हें ज़मज़म भी दिया गया। जिसकी वजह से हाजी बहुत खुश थे। इस मौके पर रज़ाकार मोती करीमी, नोडल अफसर इश्तियाक अजमल, अजफर आज़ाद, अफाक अख्तर, शमीम अख्तर, शहीद खान वगैरह मौजू हाजियों की खिदमत के लिए पेश नज़र आए। ,हाजियों से मुलाक़ात के लिए गया हवाई अड्डा पर लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा।

हाजियों के रिश्तेदार, दोस्त एहबाब भी गया हवाई अड्डा पर उन्हें ले जाने के लिए सुबह के लिए सुबह से ही इंतेजार कर रहे थे। फ्लाइट में ताखीर के सबब उन्हें घंटों गया हवाई अड्डा पर फ्लाइट का इंतज़ार करना पड़ा। वहीं ताखीर के सबब रजाकारों में मंगल को मजीद गुस्सा देखने को मिला। रजाकारों का कहना था की आखिर एयर इंडिया हाजियों की आमद पर फ्लाइट ताखीर के सिलसिले पर रोक क्यों नहीं लगाती। रजाकारों ने कहा की हाजियों की परवाज़ पर भी फ्लाइट में ताखीर का सिलसिला काफी दिनों तक चला था और आमद पर भी सिलसिला जारी है। फ्लाइट ताखीर के सबब जो परेशानी हाजियों और उनके रिश्तेदारों को उठानी पड़ी है उसका जवाब कौन देगा।

TOPPOPULARRECENT