Wednesday , October 18 2017
Home / AP/Telangana / स्टूडेंट्स-ओ-लेक्टरर्स को फ़ौरी रिहा करने का मुतालिबा:राधिका विमला

स्टूडेंट्स-ओ-लेक्टरर्स को फ़ौरी रिहा करने का मुतालिबा:राधिका विमला

हैदराबाद 26 मार्च: रोहित की माँ राधीका ने ज़राए इबलाग़ के नुमाइंदों से बातचीत करते हुए हैदराबाद सेंट्रल यूनीवर्सिटी से गिरफ़्तार शूदा स्टूडेंट्स-ओ-लेक्टरर्स की फ़ील-फ़ौर रिहाई का मुतालिबा किया।

राधीका ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान रोहित की मौत पर इन्साफ़ का मुतालिबा करने वाले स्टूडेंट्स के साथ पुलिस और यूनीवर्सिटी इंतेज़ामीया का जो रवैया है वो इंतेहाई काबिल-ए-मज़म्मत है। उन्होंने वाइस चांसलर अप्पा राव‌ की बरतरफ़ी-ओ-गिरफ़्तारी का मुतालिबा करते हुए कहा कि रोहित की ख़ुदकुशी से मुताल्लिक़ की गई शिकायत में वाइस चांसलर का भी नाम शामिल है और एफ़आईआर में मौजूदगी के बावजूद अप्पा राव‌ को दुबारा जायज़ा लेने का मौक़ा फ़राहम किया जाना इन्साफ़ के खिलाफ है।

राधीका ने दो माह गुज़र जाने के बावजूद रोहित की ख़ुदकुशी के मुआमले में किसी को गिरफ़्तार ना किए जाने पर अफ़सोस का इज़हार करते हुए कहा कि जो स्टूडेंट्स रोहित के लिए इंसाफ़-तलब कर रहे हैं उन्हें गिरफ़्तार करते हुए पुलिस मर्कज़ के इशारों पर काम कर रही है।

उन्होंने मर्कज़ी वज़ीर फ़रोग़ इन्सानी वसाइल ईरानी को भी तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा कि मर्कज़ी हुकूमत रोहित के मुआमले को नज़रअंदाज करने की कोशिश कर रही है। यूनीवर्सिटी स्टूडेंट्स ने आज भी एहतेजाज जारी रखते हुए कहा कि अगर हम हुकूमत से सवाल करते हैं तो हमें मुख़ालिफ़ मुल्क क़रार देने की कोशिश जा रही है जो कि ग़लत है।

उन्होंने तमाम गिरफ़्तारीयों और यूनीवर्सिटी की सूरते हाल पर सदमे का इज़हार करते हुए कहा कि अगर स्टूडेंट्स की रिहाई यक़ीनी नहीं बनाई जाती तो एसी सूरत में वो ख़ुद एहतेजाज शुरु करेंगी।

TOPPOPULARRECENT