Friday , October 20 2017
Home / Hyderabad News / हड़ताल ख़तम करने वालों केलिए रुकावटें डालने पर हुकूमत का इंतिबाह

हड़ताल ख़तम करने वालों केलिए रुकावटें डालने पर हुकूमत का इंतिबाह

हैदराबाद, 11 अक्टूबर ( सियासत न्यूज़ ) रियास्ती हुकूमत ने कहा कि इलाक़ा तलंगाना में जारी आम हड़ताल से किसानों , अवाम बिलख़सूस तलबा-ए-ओ- तालिबात और रोज़मर्रा मेहनत मज़दूरी करने वाले ग़रीब अफ़राद वग़ैरा को काफ़ी मुश्किलात-ओ-मसाइब से दो-चार होना

हैदराबाद, 11 अक्टूबर ( सियासत न्यूज़ ) रियास्ती हुकूमत ने कहा कि इलाक़ा तलंगाना में जारी आम हड़ताल से किसानों , अवाम बिलख़सूस तलबा-ए-ओ- तालिबात और रोज़मर्रा मेहनत मज़दूरी करने वाले ग़रीब अफ़राद वग़ैरा को काफ़ी मुश्किलात-ओ-मसाइब से दो-चार होना पड़ रहा है ।

लिहाज़ा आम हड़ताल में शामिल सरकारी मुलाज़मीन , असातिज़ा , वर्कर्स , सिंगारीनी कालरीज़ वर्कर्स , आर टी सी मुलाज़मीन-ओ-दीगर ख़ानगी तालीमी इदारों के तदरीसी-ओ-ग़ैर तदरीसी स्टाफ़ से अपनी हड़ताल को ख़तम करके फ़िलफ़ौर डयूटी पर रुजू बिकार हो जाने की पर ज़ोर अपील है ।

आज यहां रियास्ती सकरीटरीट मैं वुज़रा ए राम नारायण रेड्डी , डी नागेंद्र , मुकेश गौड़ , डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर दामोदर राज नर सिम्हा और रियास्ती चीफ़ सैक्रेटरी पंकज द्विवेदी के साथ अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत करते हुए चीफ़ मिनिस्टर मिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी ने पहली मर्तबा हड़ताली मुलाज़मीन को सख़्त अलफ़ाज़ में इंतिबाह दिया और कहा कि इन की अपील पर डयूटी पर रुजू होने की कोशिश करने वाले मुलाज़मीन के लिए रुकावटें पैदा करने की कोशिश करने और क़ानून को अपने हाथ में लेने की कोशिश करने वाले हड़ताली क़ाइदीन-ओ-मुलाज़मीन के ख़िलाफ़ सख़्त तरीन क़ानूनी कार्रवाई की जाएगी ।

चीफ़ मिनिस्टर ने वाज़िह तौर पर कहा कि हुकूमत ने हड़ताली मुलाज़मीन के साथ सख़्ती से निमटने की पुलिस को भी हिदायात दी हैं। मिस्टर किरण कुमार रेड्डी ने कहा कि ए पी ऐस आर टी सी एन ऐम यू क़ाइदीन ने हड़ताल से दसतबरदारी इख़तियार करने पर अपनी रजामंदी ज़ाहिर की है और सिंगारीनी कालरीज़ वर्कर्स के साथ भी हड़ताल ख़तम करने के मसला पर बातचीत जारी है जबकि सिंगारीनी कालरीज़ में बाअज़ वर्कर्स के डयूटी पर रुजू होने के बाइस कोयला की पैदावार का आग़ाज़ हुआ है ।

गुज़श्ता दिन सिंगारीनी कालरीज़ में (65) ता (70) मैट्रिक टन कोयला की पैदावार होने का चीफ़ मिनिस्टर ने इन्किशाफ़ किया और बताया कि बहुत जल्द हड़ताली सरकारी मुलाज़िम क़ाइदीन को भी हड़ताल ख़तम करने के मसला पर बातचीत के लिए मदऊ किया जाएगा । ताहम बातचीत के लिए तारीख़-ओ-वक़्त का का बीनी ज़ेली कमेटी के ग्रुप आफ़ मिनिस्टर्स फ़ैसला करेंगे और वही बातचीत भी करेंगे और बादअज़ां ज़रूरत पड़ने पर वो भी क़ाइदीन के साथ बातचीत करेंगे ।

चीफ़ मिनिस्टर ने परज़ोर अलफ़ाज़ में कहा कि तेलंगाना का मसला ना सिर्फ इंतिहाई एहमीयत का हामिल बल्कि बहुत ही हस्सास मसला है और हुकूमत तेलंगाना अवाम के जज़बात का ज़रूर एहतराम करेगी ।

ताहम इस मसला की यकसूई इतनी आसान भी नहीं बल्कि बहुत ही पेचीदा है । अब कांग्रेस कोर कमेटी इस मसला पर मुशावरत के अमल का आग़ाज़ कर चुकी है और वसीअ तर मुशावरत और तबादला-ए-ख़्याल के बाद ही हर एक के लिए काबिल-ए-क़बूल और अवामी तवक़्क़ुआत के मुताबिक़ कोई हल बरामद होने की तवक़्क़ो है ।

चीफ़ मिनिस्टर ने कहा कि जमहूरी-ओ-पुरअमन अंदाज़ में जारी एहतिजाज-ओ-जद्द-ओ-जहद की रियास्ती हुकूमत हरगिज़ मुख़ालिफ़ नहीं है और हुकूमत इस सूरत-ए-हाल पर इंतिहाई सब्र-ओ-तहम्मुल का मुज़ाहरा ज़रूर करेगी ।

मिस्टर किरण कुमार रेड्डी ने कहा कि अमन-ओ-ज़बत की सूरत-ए-हाल को बिगाड़ने और क़ानून को अपने हाथ में लेने की हरगिज़ किसी को इजाज़त नहीं दी जाएगी और इसतरह की कोशिश करने वालों को हुकूमत हरगिज़ बर्दाश्त नहीं करेगी बल्कि किसी को भी बख्शा नहीं जाय गाख़वाह वो किसी भी रुतबा का हामिल क़ाइद और वर्कर क्यों ना हो और अमन-ओ-ज़बत की सूरत-ए-हाल को बिगाड़ने की किसी भी कोशिशों पर पुलिस अब सिर्फ ख़ामोश तमाशाई नहीं बने रहेगी बल्कि हालात से सख़्ती के साथ निमटने के इक़दामात करेगी ।

उन्हों ने कहाकि बसों को नुक़्सान पहूँचाने वाले शरपसंद अनासिर के ख़िलाफ़ ना सिर्फ सख़्त कार्रवाई की गई बल्कि उन को गिरफ़्तार भी किया जा चुका है । मिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी ने साफ़ अलफ़ाज़ में कहा कि तेलंगाना के मसला पर हर ज़ावीया से सोच समझकर और संजीदगी के साथ ग़ौर करके कोई फ़ैसला करने की ज़रूरत है इस लिए कुछ वक़्त ज़रूर दरकार होगा और मौजूदा कशीदा सूरत-ए-हाल में मर्कज़ को भी कोई फ़ैसला करने में मुश्किलात दरपेश होंगे ।

उन्हों ने तेलंगाना में जारी हड़ताल का तज़किरा करते हुए कहा कि सिंगारीनी कालरीज़ में कोयला की पैदावार रोक दिए जाने के नतीजा में बर्क़ी सरबराही में बड़े पैमाने पर रुकावटें हाइल होरही हैं । तालीमी इदारे बंद हो जाने की वजह से तलबा-ए-ओ- तालिबात मुश्किलात से दो-चार हैं और आर टी सी मुलाज़मीन की हड़ताल से मुसाफ़िरों को सफ़र की सहूलतें नहीं हैं जिस के बाइस वो काफ़ी दुशवार कुन सूरत-ए-हाल से दो-चार हैं। उन्हों ने तमाम ख़ानगी मदारिस के इंतिज़ामियों से भी स्कूलस को फ़ौरी खोल देने की ख़ाहिश की। चीफ़ मिनिस्टर ने कहा कि रियासत में बहुत जल्द (1.16) लाख मुलाज़मतों के मवाक़े फ़राहम करने के इक़दामात किए जा रहे हैं और राजीव युवा करता लो स्कीम के तहत माह डसमबर तक एक लाख मुलाज़मतें फ़राहम करने केलिए अमली इक़दामात शुरू करदिए गए हैं।

उन्हों ने एहतिजाज-ओ-जद्द-ओ-जहद केलिए तलबा-ए-को इस्तिमाल करके उन के मुस्तक़बिल को तारीक बनाने की कोशिशों पर अपने अफ़सोस का इज़हार किया और एहतिजाज-ओ-जद्द-ओ-जहद करने वाले क़ाइदीन से तलबा-ए-ओ- तालिबात के दरख़शां मुस्तक़बिल को यक़ीनी बनाने केलिए हुकूमत के साथ तआवुन करने की परज़ोर अपील की। चीफ़ मिनिस्टर ने कहा कि तलंगाना में जारी कामयाब आम हड़ताल के ज़रीया तेलंगाना अवाम अपने हक़ीक़ी जज़बात का मर्कज़ी हुकूमत को एहसास दिला चुके हैं और ख़ुद वज़ीर-ए-आज़म डाक्टर मनमोहन सिंह ने भी तेलंगाना में जारी हड़ताल और मसला की शिद्दत का एहसास करते हुए अपने रद्द-ए-अमल का इज़हार किया और हड़ताली मुलाज़मीन से हड़ताल ख़तन करके ख़िदमात पर रुजू हो जाने की अपील की है ।

TOPPOPULARRECENT