Friday , October 20 2017
Home / Crime / क़र्ज़ अदा ना करने पर दिन दहाड़े बे रहमाना क़त्ल

क़र्ज़ अदा ना करने पर दिन दहाड़े बे रहमाना क़त्ल

पुराने शहर के इलाके फ़लकनुमा में क़र्ज़ दहिंदा ने क़र्ज़दार पर बे रहमाना अंदाज़ में हमला करते हुए इस का क़त्ल कर दिया।

पुराने शहर के इलाके फ़लकनुमा में क़र्ज़ दहिंदा ने क़र्ज़दार पर बे रहमाना अंदाज़ में हमला करते हुए इस का क़त्ल कर दिया।

बताया जाता हैके कल दोपहर वटेपली के इलाके में क़र्ज़ दहिंदा इसहाक़ ने क़र्ज़दार शेख़ सिराज पर हमला करते हुए इस का गला काट दिया और लाश को रोड पर फेंक दिया।

क़त्ल की इस संगीन वारदात के बाद इलाके में कशीदगी-ओ-ख़ौफ़ का माहौल पैदा होगया। दिन दहाड़े सड़क के दरमयान एक शख़्स का गला काट कर लाश को फेंक देने के वाक़िये के बाद मुक़ामी अवाम ख़ौफ़ज़दा होगए।

ताहम क़ातिल के ताल्लुक़ से बताया जाता हैके इस ने क़त्ल के फ़ौरी बाद पुलिस स्टेशन फ़लकनुमा में ख़ुद सुपुर्दगी इख़तियार करली। ताहम पुलिस ने ख़ुदसपुर्दगी या फिर गिरफ़्तारी की तौसीक़ नहीं की।

ज़राए के मुताबिक़ 30 साला शेख़ सिराज जो फ़ातिमानगर वटे पली के साकन शेख़ हाजी का बेटा था पेशे से कारपेंटर बताया गया है । इस ने इसहाक़ जो इस से जान पहचान रखता था 2 लाख रुपये क़र्ज़ लिया था।

क़ातिल इसहाक़ तलन का कारोबार करता है। मक़्तूल के रिश्तेदारों का इल्ज़ाम हैके क़ातिल उनके भाई को काफ़ी परेशान-ओ-हरासाँ कर रहा था इस वजह से वो शहर छोड़कर चले जाने पर मजबूर होगया था।

उसकी फ़र्नीचर की दुकान थी और बीवी बच्चों का गुज़ारा भी कारोबार ना होने के सबब मुश्किल होगया था। बताया जाता हैके इसहाक़ ने सिराज को क़र्ज़ दे कर तक़रीबन 2 साल का अर्सा होगया था और अदायगी इस के लिए मुश्किल थी क़र्ज़ अदा करने में टाल मटोल से तंग आकर इसहाक़ ने सिराज का क़त्ल कर दिया। इस ख़सूस में अस्सिटेंट कमिशनर आफ़ पुलिस फ़लकनुमा ने बताया कि सिराज क़ातिल इसहाक़ को ढाई लाख रुपये बाक़ी था और 18 माह से क़र्ज़ की रक़म अदा नहीं कर रहा था और वो पिछ्ले 8 माह से शहर में नहीं था महाराष्ट्रा चला गया था और 8 माह के बाद जब आया तो इसहाक़ का दबाव‌ बढ़ गया था। क़र्ज़ की रक़म अदा ना करने पर तंग आकर इस का क़त्ल कर दिया। पुलिस मसरूफ़ तहक़ीक़ात है।

TOPPOPULARRECENT