Friday , October 20 2017
Home / Hyderabad News / क़ानून का मज़ाक़ सी बी आई का सयासी अग़राज़ के लिए इस्तेमाल: बी जे पी

क़ानून का मज़ाक़ सी बी आई का सयासी अग़राज़ के लिए इस्तेमाल: बी जे पी

बी जे पी ने सी बी आई पर कांग्रेस के दबाव‌ में काम करने का इल्ज़ाम लाग‌या और जगन मोहन रेड्डी को ग़ैर मुतनासिब असासा जात मुक़द्दमा में 16 माह तहवील में रखने और फिर ज़रा से एहतेजाज के साथ ज़मानत की मंज़ूरी यक़ीनी बनाने को अदालती निज़ाम का मज़ाक़

बी जे पी ने सी बी आई पर कांग्रेस के दबाव‌ में काम करने का इल्ज़ाम लाग‌या और जगन मोहन रेड्डी को ग़ैर मुतनासिब असासा जात मुक़द्दमा में 16 माह तहवील में रखने और फिर ज़रा से एहतेजाज के साथ ज़मानत की मंज़ूरी यक़ीनी बनाने को अदालती निज़ाम का मज़ाक़ क़रार दिया।

बी जे पी तर्जुमान निर्मला सीता रामन ने जगन के ख़िलाफ़ मुक़द्दमे के बारे में कई सवालात उठाए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस तहक़ीक़ाती एजेंसी सी बी आई का सयासी अग़राज़ के लिए अंधा धुंद बेजा इस्तेमाल कररही है।

उन्होंने कहा कि जगन मोहन रेड्डी को 16 माह जेल में रखने के बाद उनकी ज़मानत की मंज़ूरी से सी बी आई के इस मुक़द्दमा से निमटने के तरीक़ा पर कई सवालात उभर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि चार्ज शीट पेश करने और 16 माह तहवील में रखने के बाद आज सी बी आई ये मौक़िफ़ हैके 10 के मिनजुमला 8 मुक़द्दमात एसा कोई ठोस मवाद फ़राहम नहीं हुआ है।

उन्होंने कहा कि किसी भी शख़्स को मुक़द्दमा के बगै़र 90 दिन से ज़ाइद तहवील में रखना ख़ुद इन्साफ़ रसानी निज़ाम का मज़ाक़ है। जगन मोहन रेड्डी को बगै़र किसी वजह के 16 माह तहवील में रखना और आज उनकी ज़मानत की मंज़ूरी फ़ौजदारी निज़ाम इंसाफ़ का मज़ाक़ है।

बी जे पी लीडर ने कांग्रेस पर सारे क़ानूनी अमल को एक मज़ाक़ बना देने का इल्ज़ाम लाग‌या और कहा कि जिन वुज़रा के ख़िलाफ़ चार्ज शीट पेश की गई वो आज भी अपने ओहदों पर बरक़रार है और एक के मासिवा किसी को भी गिरफ़्तार नहीं किया गया । सीतारामन ने कहा कि कांग्रेस ने जिस तरह सी बी आई का बेजा इस्तिमाल किया है उसकी मिसाल मिलनी मुश्किल है।

उन्होंने कांग्रेस पर तन्क़ीद की और कहा कि इस मुक़द्दमा में जगन को मुल्ज़िम नंबर एक क़रार दिया गया और दुसरे कई वुज़रा के ख़िलाफ़ भी चार्ज शीट पेश की गई लेकिन आज मुल्ज़िम की ज़मानत मंज़ूर होगई।

TOPPOPULARRECENT