Friday , October 20 2017
Home / Sports / क़ियादत से कभी मेरा खेल खराब नहीं हुआ : सहवाग

क़ियादत से कभी मेरा खेल खराब नहीं हुआ : सहवाग

नई दिल्ली 31 मार्च : गुजिश्ता सीज़न दिल्ली डेयर डेविल्स की क़ियादत से सबकदोश होने वाले वीरेंद्र सहवाग महसूस करते हैं कि क़ियादत की ज़ाइद ज़िम्मेदारी से कभी इनका खेल खराब‌ नहीं हुआ है। नीज़ इस मर्तबा इंडियन प्रीमयर लीग (आई पी एल) के छटे ऐडीशन में फिर एक मर्तबा बैटिंग की ज़िम्मेदारी उनके काँधों पर होगी।

यहां एक ख़ुसूसी प्रोग्राम में शिरकत के दौरान सहवाग ने कहा कि वो नहीं समझते कि किसी भी टीम में कप्तान रहें या आम खिलाड़ी इससे उनकी बैटिंग खराब नहीं होती । ख़बररसां एजेंसी पी टी आई को दिए गए एक ख़ुसूसी इंटरव्यू में सहवाग का कहना है कि उन्होंने कभी भी क़ियादत का दबाव‌ ख़ुद पर बनने नहीं दिया और बैटिंग में उनकी तर्ज़ हमेशा एक जैसी ही रहती है ।

दिल्ली डेयर डेविल्स की क़ियादत श्री लंकाई टीम के खिलाड़ी महेला जय‌ वरधने कर रहे हैं । इस बारे में सहवाग का कहना है कि खेल और क़ियादत दो मुख़्तलिफ़ ज़िम्मेदारियां हैं और उन्हें एक दूसरे में ज़म नहीं किया जाना चाहिए । सहवाग ने मज़ीद कहा कि वो हमेशा मुज़ाहिरे और क़ियादत को एलाहदा रखते हैं ।

सहवाग जिन्होंने गुजिश्ता सीज़न मुतवातिर पाँच निस्फ़ सेंचुरियाँ स्कोर करने के अलावा सीज़न में सब से ज़्यादा 495 रंस‌ स्कोर किए हैं, जोकि एक रिकार्ड है । एन डी टी वी के एक प्रोग्राम में बच्चों से तबादला-ए-ख़्याल के दौरान सहवाग ने कहा कि उमीद की जा सकती है कि गुजिश्ता सीज़न उनकी जानिब से बनाया गया ये रिकार्ड इस सीज़न में टूट जाएगा और कोई खिलाड़ी ये कारनामा अंजाम दे सकता है ।

वीरेंद्र सहवाग ने एतराफ़ किया है कि इंग्लिश खिलाड़ी कियून पीटरसन की शिद्दत से कमी महसूस की जाएगी क्योंकि उनके शानदार मुज़ाहिरों की बदौलत गुजिश्ता साल‌ दिल्ली डेयर डेविल्स की टीम टूर्नामेंट की क़तई 4 टीमों में रसाई हासिल कर पाई थी । ताहम सहवाग का कहना है कि टीम में मज़ीद 10 बैरूनी खिलाड़ी मौजूद हैं जोकि ख़ुद को मिलने वाले मौके से फ़ायदा उठाते हुए टीम के लिए भी बेहतर मुज़ाहरे करेंगे ।

TOPPOPULARRECENT