Sunday , September 24 2017
Home / Delhi News / ख़वातीन के ख़िलाफ़ जराइम पर मर्कज़ी हुकूमत संजीदा

ख़वातीन के ख़िलाफ़ जराइम पर मर्कज़ी हुकूमत संजीदा

नई दिल्ली: मर्कज़ी हुकूमत ख़वातीन और बच्चों के ख़िलाफ़ जराइम के मसले पर संजीदा है और उसने इस लानत से निमटने के लिए दस्तूरी और क़ानूनी दायराकार को मुस्तहकम किया है। मर्कज़ी वज़ीरे दाख़िला राजनाथ सिंह ने आज ये बात बताई। उन्होंने दिल्ली बार एसोसीएशन‌ की 125 साला तक़ारीब के मौक़े पर ख़िताब करते हुए कहा कि फ़ौजदारी क़ानून ( तरमीमी ) बिल एक संग मील क़ानून की अहमियत रखता है जिसके नतीजे में ख़वातीन के ख़िलाफ़ मुख़्तलिफ़ जराइम पर सज़ा में इज़ाफ़ा किया गया है।

उन्होंने कहा कि जो रियासतें ख़वातीन के ख़िलाफ़ जराइम की तहकीकात के लिए यूनिटें क़ायम करना चाहती हैं उन्हें भी मदद फ़राहम करने का मर्कज़ी हुकूमत ने फैसला किया है। उन्होंने कहा कि ये यूनिटें इंतेहाई असरी रहेंगी और उन में एक तिहाई ख़वातीन को शामिल किया जाएगा जिन्हें मर्कज़ी हुकूमत और रियासतों की जानिब से मुसावी फ़ंडज़ फ़राहम किए जाएंगे।

उन्होंने वाज़िह किया कि ख़वातीन के ख़िलाफ़ जराइम की तहकीकात में अगर कोई ओहदेदार और मैडिकल अमला भी अपने फ़राइज़ से कोताही बरतने का मुर्तक़िब पाया जाता है तो उसके ख़िलाफ़ भी कार्रवाई की जाएगी। वज़ीरे दाख़िला ने कहा कि एक मुल्कगिर सतह का इमरजेसी रेस्पांस सिस्टम भी तैयार किया गया है और इसकेलिए बहुत जल्द क़ौमी सतह के इमरजेंसी नंबर 112 को कारकरद कर दिया जाएगा।

वज़ीरे दाख़िला ने कहा कि ये रेस्पांस सिस्टम एसा है जिससे मुल्क में किसी भी मुक़ाम से राबिता किया जा सकता है जिसे पुलिस की मदद की ज़रूरत हो। उन्होंने कहा कि उसे मामलात में बरवक़्त और किसी रुकावट के बगैर मुक़द्दमात का इंदिराज भी अहमियत का हामिल है और विज़ारत-ए-दाख़िला की जानिब से अवाम को सिटीज़न पोर्टल के ज़रिया सहूलत फ़राहम की जा रही है।

ये क्राईम एंड क्रीमिनल ट्राकिंग नेटवर्क एंड सिस्टम के तहत किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस के नतीजे में अवाम को ख़वातीन के ख़िलाफ़ जराइम का पता चलाने और फिर उस के बाद की जाने वाली कार्रवाई पर नज़र रखने में भी मदद मिल सकती है। वज़ीरे दाख़िला ने तेज़ाबी हमलों के मुतासरीन की बाज़ आबादकारी की ज़रूरत पर भी ज़ोर दिया।

TOPPOPULARRECENT