Saturday , August 19 2017
Home / Crime / ख़वातीन से छेड़-छाड़ पर क़ाबू पाने तशकील दी गई शि टीम का एक साल मुकम्मिल

ख़वातीन से छेड़-छाड़ पर क़ाबू पाने तशकील दी गई शि टीम का एक साल मुकम्मिल

हैदराबाद 28 अक्टूबर: ख़वातीन से छेड़-छाड़ और हरासानी की रोक-थाम के लिए क़ायम की गई शि टीम के एक साल मुकम्मिल होने पर उस के मुसबित नताइज बरामद हुए हैं।

पिछ्ले एक साल में शि टीम ने कामयाब तौर पूर 300 अफ़राद को गिरफ़्तार किया है जिनमें ज़ईफ़ और कमउमर अफ़राद भी शामिल हैं। रियासत तेलंगाना के क़ियाम के बाद ख़वातीन के हुक़ूक़ के तहफ़्फ़ुज़ और हरासानी की रोक-थाम के लिए एडीशनल कमिशनर पुलिस क्राईम स्वाति लक्रा की क़ियादत में 24 अक्टूबर 2014 को शि टीम क़ायम की गई थी जो अवामी मुक़ामात, कॉलेजस और दुसरे मुक़ामात ख़वातीन से बदसुलूकी , छेड़-छाड़ और दस्त दराज़ी में शामिल होनेवालों के ख़िलाफ़ बरवक़्त कार्रवाई करती है।

सब इंस्पेक्टर के रुत्बा पर मुश्तमिल फ़ी शि टीम ने तीन मर्द कांस्टेबल्स मौजूद होते हैं खु़फ़ीया कैमरे से मनचले नौजवानों और दुसरे अफ़राद की वीडियोग्राफी करते हुए ख़वातीन से छेड़-छाड़ में शामिल होने वालों को फ़ौरी हिरासत में लेते हैं।

शि टीम के एक साल मुकम्मिल होने पर इस टीम के सरबराह स्वाति लक्रा ने सियासत न्यूज़ से बात करते हुए बताया कि ख़वातीन और लड़कीयों से छेड़-छाड़ के वाक़ियात में कमी हुई है और नौजवानों के बरताव में भी तबदीली पाई गई है।

उन्होंने बताया कि पिछ्ले एक साल क़बल शि टीम क़ायम की गई थी जिसका अहम मक़सद ये हैके रेलवे स्टेशनस , मॉल्स , बस स्टपस , कॉलेजस और दुसरे अवामी मुक़ामात पर राह चलती लड़कीयों और ख़वातीन को नौजवानों की तरफ हरासाँ किए जाने के ख़िलाफ़ बरवक़्त कार्रवाई करना है।

TOPPOPULARRECENT