Sunday , October 22 2017
Home / Khaas Khabar / ख़्वातीन को घूरना जुर्म है लेकिन देखना……. है: त्यागी

ख़्वातीन को घूरना जुर्म है लेकिन देखना……. है: त्यागी

लखनऊ: जनता दल (युनाइटेड) के तरजुमान और राज्यसभा एमपी के सी त्यागी ख़्वातीन को लेकर दिए गये अपने एक मुतनाज़े बयान को लेकर सुर्खियों में हैं। यह वाकिया हापुड के रामा युनिवर्सिटी में मुनाकिद एक प्रोग्राम का है।

लखनऊ: जनता दल (युनाइटेड) के तरजुमान और राज्यसभा एमपी के सी त्यागी ख़्वातीन को लेकर दिए गये अपने एक मुतनाज़े बयान को लेकर सुर्खियों में हैं। यह वाकिया हापुड के रामा युनिवर्सिटी में मुनाकिद एक प्रोग्राम का है।

त्यागी ने प्रोग्राम के दौरान कहा, ख़्वातीन को घूरना जुर्म है, लेकिन उन्हें देखना खूबसूरती का एहतेराम करना है । त्यागी के इस बयान को लेकर अब ख़्वातीन ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इस पर त्यागी का कहना है कि उन्होंने कुछ गलत नहीं कहा है। कुछ लोग जानबूझकर मामले को तूल दे रहे हैं।

दरअसल, हापुड में पिलखुवा के रामा युनिवर्सिटी में टीचरों के एहतेराम में मुनाकिद एक प्रोग्राम में ब़डी तादाद में ख़्वातीन भी मौजूद थीं। यहां अपनी तकरीरमें राज्यसभा एमपी त्यागी ने कहा, ख़्वातीन को घूरना जुर्म है, लेकिन उन्हें देखना खूबसूरती का एहतेराम करना है।

मुल्क के क़दीम शायरों ने भी ख़्वातीन की खूबसूरती का ज़िक्र किया है। उन्होंने कहा कि संसद भवन में फिल्म अदाकारा और एमपी उनके पीछे बैठती हैं, जिन्हें वह अक्सर देखते रहते हैं। तब हालांकि उनके इस बयान को किसी ने खास तवज्जो नहीं दी, लेकिन बयान सुर्खियों में आने के बाद आज कई ख़्वातीन की तंज़ीमों ने उनकी शख्त तन्कीद की है।

भाजपा खातून मोर्चा की साबिक रियासती सदर और रियासती आमिला की रुकन लज्जारानी गर्ग ने कहा कि, यह बयान त्यागी और उनकी पार्टीइ की ज़हनियत को दिखाता है।

मुल्क हिंदुस्तान में ख़्वातीन को बतौर मां की शक्ल में देखा गया है। मां के जिस्म की खूबसूरती नहीं देखी जाती, बल्कि उसकी मुहब्बत देखी जाता है। इस मामले में वुमेंस कमीशन और कानून को अपना काम करना चाहिए। रियासती वुमेंस कमीशन की रुकन राज देवी चौधरी ने कहा कि, के सी त्यागी ने क्या कहा, इसके बारे में अभी उन्हें कुछ मालूम नहीं है, लेकिन ख़्वातीन का एहतेराम किसी भी सतह पर कम नहीं होना चाहिए।

केसी त्यागी ने हालांकि आज मुद्दे पर सफाई देते हुए कहा कि, उन्होंने कुछ गलत नहीं कहा है। कुछ लोग उनके बयान का गलत मतलब निकालकर जानबूझकर झगड़ा का मुद्दा बना रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT