Thursday , October 19 2017
Home / Crime / ग़ाज़ी बंडा की ख़ातून आमिल “ बाजी ” गिरफ़्तार

ग़ाज़ी बंडा की ख़ातून आमिल “ बाजी ” गिरफ़्तार

हैदराबाद 23 सितंबर ( सियासत न्यूज़) पुराने शहर के इलाक़ा ग़ाज़ी बंडा से पुलिस ने आज एक आमिल ख़ातून को गिरफ़्तार कर लिया जो इलाक़ा में बाजी के नाम से मशहूर थी । डी एस पी साउथ ज़ोन स्पैशल पार्टी की जानिब से ये कार्रवाई अमल में लाई गई। ताहम गिर

हैदराबाद 23 सितंबर ( सियासत न्यूज़) पुराने शहर के इलाक़ा ग़ाज़ी बंडा से पुलिस ने आज एक आमिल ख़ातून को गिरफ़्तार कर लिया जो इलाक़ा में बाजी के नाम से मशहूर थी । डी एस पी साउथ ज़ोन स्पैशल पार्टी की जानिब से ये कार्रवाई अमल में लाई गई। ताहम गिरफ़्तार आमिल ख़ातून शाहिदा बेगम उर्फ़ बाजी का कहना है कि वो बेक़सूर है और काला जादू नहीं करती बल्कि दुआ पढ़ती है। अपने आप को बेक़सूर बताते हुए ख़िदमत-ए-ख़लक़ का दावे करनेवाली शाहिदा बेगम उर्फ़ बाजी के मकान से पुलिस ने लींबो केले तसावीर लकड़ियां और मुट्ठी की अशीया को ज़बत करलिया । ये बात डी सी पी पार्टी के ए ऐस आई फ़सीह उद्दीन ने बताई । डी सी पी पार्टी ने इस ख़ातून आमिल को का माटी पूरा पुलिस के हवाले करदिया । पुलिस का माटी पूरा के मुताबिक़ इस के मकान से पुलिस ने लींबो लकड़ियां तसावीर-ओ-दीगर अशीया के इलावा जड़ी बूटियों को भी बरामद किया है । ख़ुद को कुरानी आयात के ज़रीया अमलीयात करनेवाली ज़ाहिर करते हुए गिरफ़्तार शाहिदा बेगम का कहना है कि वो उन के उस्ताद की सिखाई हुई दुआओं से ईलाज करती है । और किसी से कुछ मुआवज़ा नहीं लेती । ख़िदमत-ए-ख़लक़ को जिहाद से ताबीर करनेवाली ख़ातून आमिल का कहना है अगर इस तरह के अमलीयात को काला जादू कहा जाता है तो फिर बगै़र तहक़ीक़ के उसे गिरफ़्तार करते हुए जमहूरी हक़ तलाफ़ी की गई और इस की इज़्ज़त को बाज़ार में पुलिस ने नीलाम करदिया। इस ख़सूस में इन्सपैक्टर का माटी पूरा मिस्टर वेंकट रेड्डी का कहना है कि पुलिस तहक़ीक़ात में मसरूफ़ है और इस ख़ातून के मकान से बरामद अशीया की जांच की जा रही है । मुक़ामी अवाम के मुताबिक़ चंद का कहना है कि शाहिदा बाजी जुड़ी बूटीयां दिया करती थीं जबकि चंद का कहना कि शाहिदा बाजी के यहां मुक़ामी अवाम से ज़ाइद बाहर के ग्राहक आया करते थे । ताहम मकान से बरामद आ यूरो यक जड़ी बूटियों के इलावा लींबोतसावीर केले और दीगर अशीया से ख़ातून आमिल के ब्यान पर शकूक-ओ-शुबहात में इज़ाफ़ा होता है । पुलिस का माटी पूरा मसरूफ़ तहक़ीक़ात है।

TOPPOPULARRECENT