Wednesday , October 18 2017
Home / India / ग़ैर कांग्रेस रियास्तें एन सी टी सी की परज़ोर मुख़ालिफ़

ग़ैर कांग्रेस रियास्तें एन सी टी सी की परज़ोर मुख़ालिफ़

छः ग़ैर कांग्रेस इक़्तेदार वाली रियास्तों ने आज मुजव्वज़ा क़ौमी इन्सेदाद-ए-दहशत गर्दी एजेंसी की इस बुनियाद की परज़ोर मुख़ालिफ़त की कि उसे स्टेट पुलिस पर ग़ैरमामूली इख़्तेयारात दिए गए हैं, जो काबिल-ए-क़बूल नहीं है। मध्य प्रदेश, गुजरात, उड़ी

छः ग़ैर कांग्रेस इक़्तेदार वाली रियास्तों ने आज मुजव्वज़ा क़ौमी इन्सेदाद-ए-दहशत गर्दी एजेंसी की इस बुनियाद की परज़ोर मुख़ालिफ़त की कि उसे स्टेट पुलिस पर ग़ैरमामूली इख़्तेयारात दिए गए हैं, जो काबिल-ए-क़बूल नहीं है। मध्य प्रदेश, गुजरात, उड़ीसा, तमिलनाडू, छत्तीसगढ़ और कर्नाटक के ओहदेदारों ने क़ौमी इन्सेदाद-ए-दहशत गर्दी सेंटर (एन सी टी सी) की आला सतह की मीटिंग में मुख़ालिफ़त की, जिसकी सदारत आज यहां मोतमिद दाख़िला आर के सिंह ने की और जिसमें रियास्तों के चीफ़ सेक्रेट्रीज़ , होम सेक्रेट्रीज़ और पुलिस सरबराहान मौजूद थे।

ज़राए ने कहा कि एन सी टी सी को कांग्रेस इव्तेदार वाली रियास्तों की तरफ़ से ताईद मिली। मर्कज़ ने एन सी टी सी पर अमल आवरी को इस साल यक्म मार्च से अलतवा में रखा है और गैरकांग्रेसी चीफ़ मिनिस़्टरों के परज़ोर एहतिजाजों के पेशे नज़र उस मसला पर रियास्ती हुकूमतों के साथ गौर व हौज़ कर रहा है।

आज की मीटिंग मुख़ालिफ़ रियास्तों के नुमाइंदा ओहदेदारों ने एन सी टी सी के कंट्रोलिंग वाले पहलू पर अपने तहफ़्फुज़ात ज़ाहिर किए, जो उन्होंने कहा कि दरुस्त, मुंसिफ़ाना और काबिल-ए-क़बूल नहीं है। उन्होंने कहा कि चूँकि पहले ही इंटेलीजेन्स ब्यूरो अपना काम कर रहा है, इसलिए नए इन्सेदाद-ए-दहशतगर्दी यूनिट को गिरफ़्तारी का इख्तेयार देने की ज़रूरत नहीं है, जैसा कि तजवीज़ रखी गई है।

ज़राए ने बताया कि इन रियास्तों की तशवीश की समाअत के बाद मोतमिद दाख़िला ने कहा हमने आप की फ़िक्रमंदी नोट कर ली है और उन पर ग़ौर किया जाएगा। रियास्तों के एन्टी टेरर यूनिट्स के सरबराहान भी इस मीटिंग में मौजूद रहे। ज़ाइद अज़ एक दर्जन वुज़राए आला एन सी टी सी तशकील देने की मुख़ालिफ़त करते हुए यही कहते आए हैं कि इससे मुल्क के वफ़ाक़ी ढांचा को नुक़्सान पहुंचेगा।

चीफ़ मिनिस्टर उड़ीसा नवीन पटनायक और चीफ़ मिनिस्टर तामिलनाडू जया ललीता ने वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह से इस मसला पर तबादला-ए-ख़्याल के लिए चीफ़ मिनिस़्टरों की मीटिंग तलब करने की अपील की है।

TOPPOPULARRECENT