Wednesday , October 18 2017
Home / Hyderabad News / ज़रई कर्ज़ों की माफ़ी चीफ़ मिनिस्टर के सी आर के अहकाम जारी

ज़रई कर्ज़ों की माफ़ी चीफ़ मिनिस्टर के सी आर के अहकाम जारी

तेलंगाना रियासत से ताल्लुक़ रखने वाले किसानों के ज़रई क़र्ज़ाजात को बिलआख़िर एक लाख रुपये तक माफ़ करने का फ़ैसला करते हुए चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना के चंद्रशेखर राव‌ ने इस सिलसिले में बाक़ायदा अहकामात जारी किए।

तेलंगाना रियासत से ताल्लुक़ रखने वाले किसानों के ज़रई क़र्ज़ाजात को बिलआख़िर एक लाख रुपये तक माफ़ करने का फ़ैसला करते हुए चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना के चंद्रशेखर राव‌ ने इस सिलसिले में बाक़ायदा अहकामात जारी किए।

जबकि चीफ़ मिनिस्टर ने ही ज़रई क़र्ज़ाजात की माफ़ी से मुताल्लिक़ तरीका-ए-कार को मुरत्तिब करने और तफ़सीली जायज़ा लेने के लिए वज़ीर-ए-ज़राअत पी श्रीनिवास रेड्डी की क़ियादत में एक काबीनी ज़ेली कमेटी तशकील दी थी, जिस में ई राजिंदर वज़ीर फाइनैंस, टी हरीश राव‌ वज़ीर आबपाशी, के टी रामा राव‌ वज़ीर पंचायत राज-ओ-इन्फ़ार्मेशन टेक्नालोजी , जो गुरू अम्मा वज़ीर जंगलात-ओ-दुसरे शामिल थे।

इस काबीनी ज़ेली कमेटी ने मुसलसिल अपनी नशिस्तें मुनाक़िद करके आख़िर-ए-कार एक तफ़सीली-ओ-जामि रिपोर्ट चीफ़ मिनिस्टर के चंद्रशेखर राव‌ को पेश की जिस पर चंद्रशेखर राव‌ ने इस रिपोर्ट को क़बूल करते हुए किसानों के ज़रई क़र्ज़ा जात माफ़ करने के लिए बाक़ायदा अहकामात जारी किए।

बादअज़ां अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत करते हुए बी श्रीनिवास रेड्डी वज़ीर-ए-ज़राअत और ई राजिंदर वज़ीर फाइनैंस, पी महेंद्र रेड्डी वज़ीर ट्रांसपोर्ट‍ और दुसरें ने बताया कि चीफ़ मिनिस्टर के चंद्रशेखर राव‌ ने पहले मरहले के तहत क़र्ज़ माफ़ी के लिए (4250) करोड़ रुपये जारी भी करदिए।

उन्होंने मज़ीद कहा कि इस ज़रई क़र्ज़ माफ़ी के लिए 17 हज़ार करोड़ रुपये के मसारिफ़ आइद होंगे। लेकिन इस क़र्ज़ माफ़ी इस्कीम के तहत (36) ता (37) लाख किसानों को फ़ायदा पहूंच सकेगा।

इन वुज़रा ने कहा कि हुकूमत ने बैंकरों को इस बात की हिदायत दी हैके वो किसानों को ख़रीफ़ फ़सल के लिए क़र्ज़ाजात फ़राहम करें। क्युंकि माह सितंबर के ख़त्म होने पर किसानों को क़र्ज़ाजात फ़राहम नहीं हो सकीं गे।

काबीनी ज़ेली कमेटी ने अपनी पेश करदा रिपोर्ट को फ़ौरी तौर पर क़बूल करते हुए क़र्ज़ माफ़ी के अहकामात जारी करने पर चीफ़ मिनिस्टर के चंद्रशेखर राव‌ से इज़हार-ए-तशक्कुर किया और बताया कि चीफ़ मिनिस्टर ने अपने चुनाव मंशूर में अवाम से किए हुए वादों को पूरा करने के लिए मरहला वार असास पर इक़दामात कररहे हैं।

पिछ्ले दिनों के दौरान चंद्रशेखर राव‌ ने अपनी ख़ुसूसी दिलचस्पी के एक तवील अर्सा से ज़ेर-ए-इलतिवा (480) करोड़ रुपये (Input Subsidy) की इजराई को यक़ीनी बनाया। इन वुज़रा ने कांग्रेस क़ाइदीन को बिलवासता तौर पर अपनी तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा कि वो साबिक़ में किसानों वग़ैरा के लिए कुछ तो नहीं करसके लेकिन आज तेलंगाना हुकूमत की तरफ से किसानों के लिए किए जाने वाले इक़दामात पर बौखलाहट का शिकार होकर चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना को अपनी तन्क़ीद का निशाना बनाने के लिए कोशां हैं।

TOPPOPULARRECENT