Wednesday , October 18 2017
Home / India / ज़रदारी के दौर में हिन्दू – पाक मुज़ाकरात में बेहतरी

ज़रदारी के दौर में हिन्दू – पाक मुज़ाकरात में बेहतरी

मुंबई, ०७ जनवरी (पी टी आई) पाकिस्तान के एक सीनीयर सयासी रुकन बी एम कटी (Biyyathil Mohyuddin Kutty) ने आज एक अहम ब्यान देते हुए कहा कि जब से पाकिस्तान में आसिफ़ अली ज़रदारी सदर के जलील-उल-क़दर ओहदा पर फ़ाइज़ हुए हैं, हिंदूस्तान के साथ मुज़ाकरात के ज़रीया ताल्ल

मुंबई, ०७ जनवरी (पी टी आई) पाकिस्तान के एक सीनीयर सयासी रुकन बी एम कटी (Biyyathil Mohyuddin Kutty) ने आज एक अहम ब्यान देते हुए कहा कि जब से पाकिस्तान में आसिफ़ अली ज़रदारी सदर के जलील-उल-क़दर ओहदा पर फ़ाइज़ हुए हैं, हिंदूस्तान के साथ मुज़ाकरात के ज़रीया ताल्लुक़ात बेहतर बनाने की कोशिश जारी हैं।

उन्हों ने कहा कि ये बात भी अपनी जगह मुस्लिमा ही का मुज़ाकरात का सिलसिला तसलसुल से जारी नहीं रह पाता क्योंकि अपने नाख़ुशगवार वाक़ियात रौनुमा होते रहते हैं जो इन दोनों ममालिक की काविशों को मलियामेट करदेते हैं, लेकिन इस के बावजूद हकूमत-ए-पाकिस्तान ने हिंदूस्तान के साथ अपने ताल्लुक़ात में बेहतरी को हमेशा तर्जीह दी है।

अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत करते हुए उन्हों ने कहा कि मिस्टर ज़रदारी के बरसर-ए-इक़तिदार आने के बाद हिन्दू पाक के माबैन मुज़ाकरात के शोबा में काफ़ी बेहतरी आई है। सलमान तासीर के अरकान ख़ानदान से इज़हार यगानगत के लिए मिस्टर कटी यहां तशरीफ़ लाए हुए थे। उन्हों ने कहा कि सलमान तासीर का ताल्लुक़ हालाँकि पी पी पी से था, लेकिन पार्टी ने अवाम में तहरीक पैदा करने में कामयाबी हासिल नहीं की।

TOPPOPULARRECENT