Tuesday , October 24 2017
Home / India / ज़राए इबलाग़ पर इमतिना की सी बी आई की दरख़ास्त सुप्रीम कोर्ट में मुस्तरद‌

ज़राए इबलाग़ पर इमतिना की सी बी आई की दरख़ास्त सुप्रीम कोर्ट में मुस्तरद‌

सुप्रीम कोर्ट ने आज सी बी आई डायरेक्टर रणजीत सिन्हा की ज़राए इबलाग़ को मुख़्तलिफ़ अफ़राद के उनकी क़ियामगाह पर आमद-ओ-रफ़त से मुताल्लिक़ दस्तावेज़ात की ख़बरें शाय ना करने की पाबंदी आइद करने की दरख़ास्त मुस्तरद‌ करदी। जस्टिस एच एल‌ दत्तू

सुप्रीम कोर्ट ने आज सी बी आई डायरेक्टर रणजीत सिन्हा की ज़राए इबलाग़ को मुख़्तलिफ़ अफ़राद के उनकी क़ियामगाह पर आमद-ओ-रफ़त से मुताल्लिक़ दस्तावेज़ात की ख़बरें शाय ना करने की पाबंदी आइद करने की दरख़ास्त मुस्तरद‌ करदी। जस्टिस एच एल‌ दत्तू की ज़ेर-ए-क़ियादत एल बेंच ने ताहम कहा कि ये मसला डायरेक्टर की क़ियामगाह पर आने वाले अफ़राद केलिए रखी हुई लॉग बिक की वजह से फैला हुआ है।
उनकी क़ियामगाह पर आमद एक हस्सास मसला है और उम्मीद ज़ाहिर की कि ज़राए इब्लाग़ ज़िम्मेदारी के साथ कार्रवाई करेंगे। अदालत ने रणजीत सिन्हा के मुशीर क़ानूनी की ज़राए इबलाग़ पर पाबंदी आइद करने की दरख़ास्त सख़्ती से मुस्तरद‌ करदी और कहा कि उनकी क़ियामगाह पर आने वालों की फ़हरिस्त शाय करने से हक़ ख़लवत और उनकी साख मुतास्सिर नहीं होती।

अदालत ने कहा कि इसका सहाफ़त पर कोई कंट्रोल नहीं है। बेंच ने एन जी ओ के मुशीर क़ानूनी प्रशांत भूषण से जिन्होंने अपनी एक दरख़ास्त मफ़ाद-ए-आम्मा में इल्ज़ाम आइद किया है कि कई मुल्ज़िमीन और 2G अस्क़ाम की मुल्ज़िम कंपनीयों के ओहदेदार और दीगर कई मुक़द्दमात के मुल्ज़िम रणजीत सिन्हा की क़ियामगाह पर अक्सर आते हुए देखे गए हैं। उन्होंने इल्ज़ाम आइद किया कि रणजीत सिन्हा बाज़ मुल्ज़िमीन के तहफ़्फ़ुज़ की कोशिश कर रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT