Thursday , August 17 2017
Home / Islam / ज़रूर पढ़ें: हिजाब की अहमियत को एक बाप ने कुछ यूँ समझाया अपनी बेटी को

ज़रूर पढ़ें: हिजाब की अहमियत को एक बाप ने कुछ यूँ समझाया अपनी बेटी को

आज की नौजवान पीढ़ी की अगर बात करें तो कई बार उन्हें कोई बात समझा पाना टेढ़ी खीर साबित होती है। लेकिन कई बार कुछ ऐसे वाक़या हो जाते हैं जो सुनने में तो बेहद आम से लगते हैं लेकिन वो आम से लगने वाले वाक्यों इन से भी कुछ ऐसी काम की बातें निकल कर आती हैं कि जो उन्हें समझ ले उसके लिए ज़िन्दगी बेहतर और आसान हो जाती है। ऐसा ही एक वाक़या हुआ सलीम और उनकी बेटी के बीच इन बाप-बेटी में होने वाली बातचीत पहली बार में तो बिलकुल आम लगती है लेकिन जो कोई इस्लाम को जानता और समझता है वह इस बात को भी समझ पाएगा कि बाप-बेटी के बीच इस बातचीत के पीछे सोच कितनी गहरी है। तो पढ़िए और जानिए दोनों के बीच ऐसी क्या बात हुई जो कुछेक लफ़्ज़ों में ही हिजाब का एक असल मकसद और एहमियत बयान कर गई।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

सलीम की बेटी ने कुछ दिन पहले ही एक नया आईफोन-6 खरीदा था। जिसे खरोंचों और गंदा होने से बचाने के लिए उसने फ़ोन के लिए स्क्रीन प्रोटेक्टर और फ़ोन कवर भी लिया था। जब सलीम की बेटी ने उन्हें अपना नया फ़ोन दिखाया तो बात कुछ यूँ हुई:

सलीम: बेटी आपका फ़ोन बहुत खूबसूरत है, कितने में खरीदा ये आपने?

लड़की: अबु यह फ़ोन मैंने 700 डॉलर में खरीदा है, फिर 20 डॉलर में मैंने इसके लिए कवर और 5$ में स्क्रीन प्रोटेक्टर लिया है।

सलीम: अरे! स्क्रीन प्रोटेक्टर और फ़ोन कवर न लेकर तुम 25$ बचा सकती थी बेटी।

लड़की: अबु! मैंने इतना महंगा फ़ोन खरीदा है लेकिन इसको खराब होने से बचाने के लिए भी तो कुछ खर्च और खर्च तो करना ही पड़ेगा न। और वैसे भी इस कवर से मेरा फ़ोन और भी खूबसूरत लग रहा है।

सलीम: अच्छा !! तुम्हारा मतलब है कि एप्पल ने अपने फ़ोन को इतना घटिया बनाया है कि उसे बचाने के लिए तुम्हें कवर और प्रोटेक्टर इस्तेमाल करना पड़े??

लड़की: नहीं अबु!! ऐसा नहीं है असल में आईफोन बनाने वाली कंपनी भी यही कहती है कि इसे बचाने के लिए कवर और प्रोटेक्टर लगाना चाहिए।

सलीम: ऐसे तो तुम्हारे कीमती फ़ोन की खूबसूरती कम हो रही होगी?

लड़की: नहीं अबु, इससे तो मेरा फ़ोन और भी खूबसूरत दिखाई देता है।

सलीम मुस्कुराया और उसने अपनी बेटी को मुहब्बत की निगाहों से देखा और फिर कुछ नहीं कहा….( हिजाब )

TOPPOPULARRECENT