Thursday , September 21 2017
Home / Islami Duniya / ज़लज़ले से तीन सौ से ज़ाइद हलाकतें, दो हज़ार से ज़ाइद ज़ख़्मी

ज़लज़ले से तीन सौ से ज़ाइद हलाकतें, दो हज़ार से ज़ाइद ज़ख़्मी

पाकिस्तान में पीर को आने वाले ज़लज़ले के बाद अब तक सामने आने वाली इत्तिलाआत के मुताबिक़ सबसे ज़्यादा तबाही सूबा ख़ैबर पख्तूनख्वा में हुई जहां 202 अफ़राद हलाक हुए और सैंकड़ों मकानात मुकम्मल तौर पर तबाह हो गए हैं।

मुल्क में अब तक मजमूई तौर पर 248 हलाकतों की तसदीक़ हुई है। ताहम माली और जानी नुक़्सान में इज़ाफे़ का ख़दशा ज़ाहिर किया जा रहा है और ज़लज़ले के बाद मर्कज़ी और सुबाई हुकूमतों की जानिब से इमदादी कार्यवाहीयां शुरू कर दी गई हैं।

क़ुदरती आफ़ात से निमटने के क़ौमी इदारे एन डी एम ए की जानिब से जारी होने वाले ताज़ा तरीन आदाद और शुमार के मुताबिक़ मुल्क भर में ज़लज़ले से हलाक होने वाले अफ़राद की कल तादाद 248 जबकि 1665 ज़ख़्मी हैं।

सबसे ज़्यादा सूबा ख़ैबर पख्तूनख्वा मुतास्सिर हुआ जहां 202 हलाकतों की तसदीक़ हुई है जबकि सूबा भर में ज़ख़्मी होने वालों की तादाद 1486 है। एन डी एम ए के मुताबिक़ ख़ैबर पख्तूनख्वा से मुत्तसिल क़बाइली इलाक़ों में कुल 30 अफ़राद हलाक हुए हैं।

गिलगित बलतिस्तान में नौ, पंजाब में पाँच और पाकिस्तान के ज़ेरे इंतेज़ाम कश्मीर में दो हलाकतों की तसदीक़ हुई है।

TOPPOPULARRECENT