Sunday , October 22 2017
Home / India / फ़िर्कापरस्ती के ख़िलाफ़ लड़ाई और सेकूलरिज्म का फ़रोग़ ,कांग्रेस की बुनियाद : मनीष तीवारी

फ़िर्कापरस्ती के ख़िलाफ़ लड़ाई और सेकूलरिज्म का फ़रोग़ ,कांग्रेस की बुनियाद : मनीष तीवारी

एक ऐसे वक़्त जब कांग्रेस आइन्दा आम इंतिख़ाबात केलिए अपनी मीडया हिक्मत-ए-अमली को तरतीब‌ देने में मसरूफ़ है

एक ऐसे वक़्त जब कांग्रेस आइन्दा आम इंतिख़ाबात केलिए अपनी मीडया हिक्मत-ए-अमली को तरतीब‌ देने में मसरूफ़ है

वज़ीर-ए-इत्तलात-ओ-नशरियात मनीष तीवारी ने सेकूलर एजंडा पर पेशरफ़त की पुरज़ोर हिमायत की है और अपनी पार्टी के तर्जुमान से कहा कि वो फ़िर्कापरस्ती से मुताल्लिक़ मसाइल पर ठोस मौक़िफ़ और सख़्त लब-ओ-लहजा इख़तियार करें।

उन्होंने इस ख़्याल का इज़हार उस वक़्त किया है जब उन की पार्टी कांग्रेस में मौज़ू ज़ेर-ए-बहिस है कि बी जे पी ने नरेंद्र मोदी को कलीदी रोल दिया है जिस से आइन्दा लोक सभा इंतिख़ाबात में सियासी ख़ुतूत पर सियासी शीराज़ा बंदी की कोशिश की जा सकती हैं

मिस्टर मनीष तीवारी ने कांग्रेस की मुख़्तलिफ़ मुहाज़ी तंज़ीमों यूथ कांग्रेस , एन एस यू आई के मुख़्तलिफ़ रियास्तों से ताल्लुक़ रखने वाले नौजवान क़ाइदीन और तर्जुमानों के अहम इजलास से ख़िताब करते हुए कहा कि फ़िर्कापरस्ती के सवाल पर बहस के दौरान नरम मौक़िफ़ इख़तियार नहीं किया जाना चाहिए।

फ़िर्कापरस्ती के सवाल पर कोई बात‌ नहीं की जा सकती। मनीष तीवारी ने कहा कि कांग्रेस की बुनियाद ही सेकूलरिज्म है और फ़िर्कापरस्ती के ख़िलाफ़ लड़ना कांग्रेस की पहचान है। कांग्रेस के एक तर्जुमान म अफ़ज़ल ने यहां अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत करते हुए कहा कि हमें इस एजंडा से कभी पहलू तही नहीं करनी चाहीए।

मनीष तीवारी ने तर्जुमान को मश्वरा दिया कि वो रोज़ाना तीन घंटे मुताला करें जब ही वो हालात हाज़रा से बख़ूबी वाक़िफ़ होते हुए हर अहम मसला पर वाज़ह इज़हार-ए-ख़्याल केलिए तैयार रह सकते हैं। तीवारी इलैक्ट्रॉनिक मीडया पर तैयारी के इजलास से ख़िताब कररहे थे।

संदीप डकशट ने रिसर्च और दीपनदरा हूड्डा ने सोश्यल मीडया के इजलास से ख़िताब क्या। कांग्रेस के दो रोज़ा मीडया वर्कशॉप के आख्री दिन मर्कज़ी वज़ीर फ़रोग़ इंसानी वसाइल शशी थ्रो ने जो सोश्यल नेट वर्किंग साईटस पर ग़ैरमामूली मक़बूलियत रखते हैं फेसबुक और ट्वीटर के इस्तिमाल पर शुरका को वीडयो कान्फ़्रैंस के ज़रिया अहम सबक़ देते।

शशी थरूर ने जो माज़ी में अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के अंडर सेक्रेटरी जनरल बराए मुवासलात-ओ-ताअलुकात-ए-आमा थे ।शुरका को मश्वरा दिया कि वो इस बारे में कांग्रेस के नायब सदर राहुल गांधी की तरफ़ से मुक़र्ररा ख़ुतूत के पाबंद रहते हुए साफा जुबान और मुसबत सियासत अपनाऐं।

शशी थरूर ने कहा कि कांग्रेस मीडया टीम को चाहिए कि वो सोश्यल मीडया पर अप्पोज़ीशन प्रोपगंडा का जवाब हक़ायक़ और आदाद-ओ-शुमार की बुनियाद पर जवाब देने केलिए फ़हश कलामी की जाये जैसा कि दूसरी जानिब से ऐसी (फ़हश ) जुबान इस्तिमाल की जाती है।

संदीप डकशट ने मश्वरा दिया कि तहक़ीक़ी मवाद को क़ायम शूदा वेबसाइट ‘खड़ी की’ पर दस्तयाब है जिस की अप्पोज़ीशन प्रोपगंडा का मूसिर जवाब देने केलिए इस्तेमाल किया जाना चाहिए। संजय झा ने टेलीविज़न मुबाहिस पर इज़हार-ए-ख़्याल किया।

TOPPOPULARRECENT