Wednesday , October 18 2017
Home / District News / फ़िर्का वाराना फ़सादात (धार्मीक दंगा), कांग्रेस हुकूमत का वतीरा(तरीका) सिंगा रेड्डी में सदर तेल्गूदेशम चंद्रा बाबू नायडू का इल्ज़

फ़िर्का वाराना फ़सादात (धार्मीक दंगा), कांग्रेस हुकूमत का वतीरा(तरीका) सिंगा रेड्डी में सदर तेल्गूदेशम चंद्रा बाबू नायडू का इल्ज़

(सियासत डिस्ट्रिक्ट न्यूज़ ) मिस्टर एन चंद्रा बाबू नायडू सदर तेल्गूदेशम पार्टी ने जनाब ज़ाहिद अली ख़ां रुक्न पोलेट ब्यूरो , पी बाबू मोहन साबिक़ वज़ीर , एम ए हकीम स्टेट सेक्रेटरी तेल्गूदेशम और दीगर क़ाइदीन के हमराह आई बी गेस्ट हाउस

(सियासत डिस्ट्रिक्ट न्यूज़ ) मिस्टर एन चंद्रा बाबू नायडू सदर तेल्गूदेशम पार्टी ने जनाब ज़ाहिद अली ख़ां रुक्न पोलेट ब्यूरो , पी बाबू मोहन साबिक़ वज़ीर , एम ए हकीम स्टेट सेक्रेटरी तेल्गूदेशम और दीगर क़ाइदीन के हमराह आई बी गेस्ट हाउस सिंगा रेड्डी में प्रेस कान्फ़्रैंस को मुख़ातब करते हुए कहा कि सिंगारे डी में फ़िर्का वाराना फ़साद इंतिहाई दिलसोज़ और बद बख्ता ना है जिस की तेल्गूदेशम पार्टी शदीद मुज़म्मत करती है।

सिंगा रेड्डी में फ़साद हुकूमत की नाएहली की वजह से हुआ है जब कभी भी कांग्रेस पार्टी बरसर-ए-इक़तिदार आती है तो फ़िर्का वाराना फ़सादात‌ का सिलसिला शुरू हो जाता है चूँकि कांग्रेस में फ़िर्का परस्त अनासिर की बड़ी तादाद मौजूद रहती है और इस के साथ कांग्रेस हुकूमत ला एंड ओर्डर के मुआमले में हमेशा कमज़ोर पड़ जाती है जिस की वजह से जंगल राज चलता है।

तेल्गूदेशम हुकूमत 9 साल तक इक़तेदार में रही और तेल्गूदेशम के दौर‍ ए‍ इक्तेदार में ही रियासत को क्र्फ्यू और माफिया से पाक किया गया । तेल्गूदेशम के 9 साला दौर‍ ए‍ इक्तेदार में कहीं पर भी फ़िर्कावारी फ़साद नहीं हुआ और ना ही क्र्फ्यू लगा ।

शहर हैदराबाद भी महफ़ूज़ तरीन शहर बन चुका था लेकिन कांग्रेस के इक़तेदार पर वापसी के साथ ही फ़िर्क़ा वाराए शरपसंद अनासिर और ग़ुंडों को खुली छूट मिल गई । सिंगा रेड्डी में अगर पोलीस मुस्तइद्दी के साथ बरवक़्त कार्रवाई अंजाम देती तो फ़साद टल जाता लेकिन पोलीस की नाकामी की वजह से अवाम को मसाइब का सामना करना पड़ रहा है ।

सिंगा रेड्डी ज़िला हेडक्वार्टर है , एस पी , कलेक्टर के इलावा पोलीस फ़ोर्स का हेडक्वार्टर भी सिंगा रेड्डी ही है और हमेशा इज़ाफ़ी पोलीस दस्तयाब रहती है अगर फ़ोर्स कम भी हो तो अंदरून एक घंटा पोलीस फ़ोर्स को हैदराबाद से तलब करलिया जा सकता है लेकिन फ़साद शुरू होने के 4 घंटों तक पोलीस फ़ोर्स का कोई एक्शन ना लेना नाक़ाबिल फ़हम है ।

पोलीस हालात से मुनासिब तौर पर निमटने से क़ासिर रही । जिस वक़्त पोलीस को अपना हरकियाती रोल अदा करना था उस वक़्त वो नाकाम रहे । अब गिरफ्तारियां करते हुए अवाम को परेशान कर रहे हैं ।

फ़िर्क़ा वारीयत को फ़रोग़ देकर चंद मुफ़ाद परस्त ताकतें सयासी फ़ायदा हासिल करना चाहती हैं , अवाम को उन ताक़तों से चौकन्ना रहना चाहीए । सिंगा रेड्डी के अवाम में जो ख़लिश पैदा हुई है इस को दूर करने की ज़रूरत है । अवाम में एतिमाद बहाल करने के इक़दामात फ़ौरी किए जाएं।

चंद्रा बाबू नायडू ने सिंगा रेड्डी फ़साद मुतास्सरीन के लिए फ़ी ख़ान्दान‌ 5 हज़ार रुपयां तेल्गूदेशम पार्टी से माली इमदाद जारी करने का ऐलान किया । मुक़ामी तेल्गूदेशम कमेटी की जानिब से रिपोर्ट की वसूली पर माली इमदाद जारी की जाएगी ।

उन्हों ने कहा कि सिंगा रेड्डी फ़साद मुतास्सीरीन से इंसाफ़ होने तक तेल्गूदेशम जद्द-ओ-जहद करती रहेगी ।

TOPPOPULARRECENT