Wednesday , October 18 2017
Home / India / फ़ौजी सरबराह(प्रमुख) के मकतूब(खत) को काबीनी सेक्रेटेट‌ के ओहदेदार ने अफ़शा (जाहिर)किया

फ़ौजी सरबराह(प्रमुख) के मकतूब(खत) को काबीनी सेक्रेटेट‌ के ओहदेदार ने अफ़शा (जाहिर)किया

नई दिल्ली । काबीनी सेक्रेट्रेट‌ में एक ज्वाइंट सेक्रेटरी मर्तबा के ओहदेदार ने फ़ौजी सरबराह(प्रमुख) जनरल वी के सिंह के वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह को लिखे गए मकतूब(खत) को अफ़शा (जाहिर)किया था ।

नई दिल्ली । काबीनी सेक्रेट्रेट‌ में एक ज्वाइंट सेक्रेटरी मर्तबा के ओहदेदार ने फ़ौजी सरबराह(प्रमुख) जनरल वी के सिंह के वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह को लिखे गए मकतूब(खत) को अफ़शा (जाहिर)किया था ।

ये ओहदेदार इस मकतूब(खत को) के अफ़शा(जाहिर करने)का मुर्तक़िब पाया गया है(मुजरीम है) । वी के सिंह ने अपनी फ़ौज की तैयारीयों में ख़ामीयों और कोताहियों का तज़किरा(जीकर) करते हुए वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह से शिकायत की थी। वज़ीर-ए-आज़म के दफ़्तर की जानिब से इस मकतूब के अफ़शा होने(खत के खूल जाने) की तहक़ीक़ात(खोज) की गई । इस तहक़ीक़ात(खोज) में मकतूब के अफ़शा वाक़िये(खत को जाहिर करने के जूर्म) में जनरल सिंह के किसी साज़िशी ज़हन होने की तरदीद की गई थी ।

फ़ौजी सरबराह ने अपने मकतूब(खत) में फ़ौज में पाई जाने वाली कोताहियों और ख़राबियों का तज़किरा(जिकर) किया था ।

TOPPOPULARRECENT