Tuesday , October 17 2017
Home / India / फ़ौजी सरबराह के ख़त के इन्केशाफ़ का मुआमला , आई बी इंक्वायरी का हुक्म

फ़ौजी सरबराह के ख़त के इन्केशाफ़ का मुआमला , आई बी इंक्वायरी का हुक्म

वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह को तहरीर कर्दा आर्मी चीफ़ जनरल वी के सिंह के खु़फ़ीया ख़त का अफ़शा-ए-होने के मुआमले में इंटेलीजेंस ब्यूरो (आई बी ) को इंक़्वायरी के अहकामात दे दिए गए हैं। डीफेंस सेक्रेटरी शशी कांत शर्मा ने आज यहां इस बात की तसदीक़ क

वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह को तहरीर कर्दा आर्मी चीफ़ जनरल वी के सिंह के खु़फ़ीया ख़त का अफ़शा-ए-होने के मुआमले में इंटेलीजेंस ब्यूरो (आई बी ) को इंक़्वायरी के अहकामात दे दिए गए हैं। डीफेंस सेक्रेटरी शशी कांत शर्मा ने आज यहां इस बात की तसदीक़ की।

वज़ारत-ए-दिफ़ा में वज़ीर-ए-ममलकत एम एम पल्लम राजू ने तस्लीम किया कि आर्मी चीफ़ के ख़त का अफ़शा-ए-होना ख़तरनाक बात है क्योंकि इस में कुछ ऐसी इत्तेलाआत दी गई हैं जिससे हिंदूस्तान के दुश्मनों को मदद मिल सकती है। उन्होंने कहा कि इस ख़त के अफ़शा-ए-होने से ये ज़ाहिर है कि कहीं ना कहीं कोई ख़ामी है।

इस दौरान जनरल सिंह ने कहा है कि वज़ीर-ए-आज़म को भेजे गए उनके ख़त का अफ़शा-ए-होने में इन का हाथ नहीं है। वाज़िह रहे कि जनरल सिंह के वो ख़त का अफ़शा-ए‍हो गया था जिसमें कहा गया है कि आर्मी के पास गोला बारूद की भारी कमी है और एयर डीफेंस के 97 फ़ीसद आलात फ़र्सूदा हो चुके हैं।

इस अफ़शा-ए-की वजह से कल पार्लीमेंट में ज़बरदस्त हंगामा हुआ था। वज़ारत-ए-दिफ़ा इस तहा तक पहुंचना चाहती है कि ख़त का अफ़शा-ए-आख़िर कैसे हुआ।

TOPPOPULARRECENT