Friday , September 22 2017
Home / Bihar News / बिहार में आरएसएस के इशारे पर मुलायम ने बनाया तीसरा मोर्चाः मौलाना तौकीर

बिहार में आरएसएस के इशारे पर मुलायम ने बनाया तीसरा मोर्चाः मौलाना तौकीर

पटना : बिहार में सपा सरबराह मुलायम सिंह यादव ने तीसरे मोर्च की एलान की तो बरेली में बैठे इत्तेहादे मिल्लत कौंसिल के क़ौमी सदर मौलाना तौकीर ने तीर चलाने शुरू कर दिए। इतवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उन्होंने मुलायम सिंह यादव और लालू प्रसाद यादव को मुस्लिम मुखालिफत करार दिया। उन्होंने कहा कि तीसरा मोर्चा आरएसएस के इशारे पर मुलायम सिंह ने बनाया है।

सिविल लाइंस वाकेय एक होटल में मीडिया से रूबरू हुए मौलाना तौकीर रजा खां नेसपा के ब्रांड लीडर मुहम्मद आजम खां और भाजपा के एमपी आदित्यनाथ योगी के अलावा ऑल इंडिया मजलिसे इत्तेहादुल मुसलमीन के सरबराह असदुद्दीन उवैसी, एमपी साक्षी महाराज को फिरकापरस्त बताया।

उन्होंने कहा कि देश के तमाम सूबों का सरदार यूपी है। उन्होंने दावा किया कि रियासत की अगली हुकूमत उनकी पार्टी के दम पर बनेगी। तौकरी बोले- फिरकापरस्त और समाज में नफरत पैदा करने वालों को सबक सिखाया जाएगा। तीसरे मोर्च की एक भी सीट हम जीतने नहीं देंगे। इसके लिए चाहे एनडीए से हाथ मिलाना पड़े।

प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद बसपा छोड़कर आए तसव्वर खां समेत बाकी कारकुनान को आईएमसी की रुकनीयत दिलाई। तसव्वर खां को भोजीपुरा इंचार्ज और उम्मीदवार का भी एलान किया। इस मौके पर क़ौमी तर्जुमान डा. नफीस खां, जिला सदर नदीम खां, मीडिया इंचार्ज मुनीर इदरीसी वगैरह शामिल रहे।

जुबान पर लगाम लगाना सीखे आजम खां, आदित्यनाथ योगी

मौलाना तौकीर रजा खां ने कहा कि सपा लीडर मोहम्मद आजम खां, एमपी आदित्यनाथ योगी, साक्षी महाराज और उवैसी जैसे लीडर आग लगाने का काम करते हैं। ऐसे लोगों को अपनी जुबान पर लगाम लगानी चाहिए। ऐसे लोगों के फिजूल के बयानों से दिलों के बीच दूरियां पनपती हैं। लोग मिलजुलकर रहें इसके लिए ऐसे लोगों की जुबान पर लगाम लगाई जानी बेहद जरूरी है।

मौलाना तौकीर रजा खां ने कहा कि एमपी संतोष गंगवार से मुझे लड़ाने का काम किया जाता रहा है। कभी उनके बैंक में मेरा बैंक खाता होने और कई तरह के इल्ज़ाम लगते रहे हैं। संतोष जी से मेरा खानदानी रिश्ता है। सियासी तनाज़ा अलग हैं मगर वैसे हम साथ हैं।

प्रेस कांफ्रेंस में मौलाना तौकीर ने कहा कि यूपी भगवान राम और कृष्ण की पैदाइशी मुकाम है। यहां बरेलवी और देवबंदी मसलकों का बड़ा मरकज है। ऐसे रियासत में शराब पर पाबंदी लगना जरूरी है। शराब की फरोख्त को रोकने के लिए जलसे, इजलास और प्रोग्राम किए जाएंगे।

TOPPOPULARRECENT