Monday , August 21 2017
Home / India /  नोटबंदी के फैसले की वजह से नरेंद्र मोदी के ट्विटर अकाउंट से 3 लाख फौलोअर्स ने साथ छोड़ा!

 नोटबंदी के फैसले की वजह से नरेंद्र मोदी के ट्विटर अकाउंट से 3 लाख फौलोअर्स ने साथ छोड़ा!

नई दिल्ली। 8 नवंबर को प्रधानमंत्री देश में बढ़ते जाली नोटों के सबब 500 और 1000 रुपए के नोटों पर बैन लगा दिया। पीएम मोदी की रातो-रात लिये गए इस फैसले के बाद तारीफ भी हो रही है,आलोचना भी। पीएम मोदी की इस घोषणा के अगले ही दिन उनके ट्विटर एकाउंट पर करीब तीन लाख लोगों ने उनका साथ छोड़ दिया है।
माइक्रो ब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर की थर्ड पार्टी डेटा अनालिटिक वेबसाइट ट्विटर काउंटर के डेटा के मुताबिक 9 नवंबर नरेंद्र मोदी के ट्विटर फौलोअर्स में से लगभग 3 लाख यूजर साथ छोड़ दिये हैं।

आलम ये है कि पीएम मोदी की आलोचना करने वालों की संख्या बढ़ गई है। ट्विटर पर इस नाराज़गी को आसानी से समझा जा सकता है।

23 लाख 80 हजार फॉलोअर्स के साथ मोदी देश में ट्विटर पर सबसे ज्यादा फॉलो की जाने वाली शख्सियत हैं। मोदी के पीछे दूसरे पायदान पर उनके करीब ही बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन हैं जिनके फॉलोअर्स की संख्या 23 लाख 30 हजार है।

एक सर्वे के मुताबिक नवंबर में भी औसतन रोजाना मोदी के ट्विटर फॉलोअर्स की संख्या में 25 हजार का इजाफा हो रहा था। लेकिन 1000-500 के करेंसी नोटों को बंद करने के फरमान के बाद से पीएम मोदी के फॉलोअर्स की संख्या में अप्रत्याशित कमी आई है।

जानकारों की माने तो फौलोअर्स कम होने की संभावित दो वजहें हो सकती हैं। पहली यह कि लोगों को नरेंद्र मोदी का यह फैसला पसंद न आया हो और उन्होंने पीएम मोदी को अनफौलो कर दिया जबकि दूसरी बात यह हो सकती है कि ट्विटर ने स्पैम अकाउंट्स को डिलीट किए हैं।

फिलहाल दूसरी बात ज्यादा सही लग रही है क्योंकि ट्विटर अधिकारिक बयान जारी कर कहा ये महज एक संयोग है और समय समय पर वो ट्विटर के फर्जी प्राफाइल्स और स्पैम हटाते रहते हैं।

TOPPOPULARRECENT