Tuesday , October 24 2017
Home / Uttar Pradesh / 10 हजार की नौकरी के बदले यहां सिखाया जाता है मौत का खेल!

10 हजार की नौकरी के बदले यहां सिखाया जाता है मौत का खेल!

रांची/ जमशेदपुर 6 जून : जंगल में चोर सिपाही का खेल शुरू हो गया है। एक दूसरे को मात देने की तैयारी चल रही है। इस खेल में एक बार फिर बड़े क़त्ल आम का इमकान बन गई है। इसकी तैयारी तेज हो गई है। मसुबा को अंजाम देने के लिए जरुरी समान जंगल में प

रांची/ जमशेदपुर 6 जून : जंगल में चोर सिपाही का खेल शुरू हो गया है। एक दूसरे को मात देने की तैयारी चल रही है। इस खेल में एक बार फिर बड़े क़त्ल आम का इमकान बन गई है। इसकी तैयारी तेज हो गई है। मसुबा को अंजाम देने के लिए जरुरी समान जंगल में पहुंचने लगे हैं। खुफिया महकमा ने भी इसके इशारे दिए हैं। झारखंड पुलिस को इससे जुड़े कुछ साबुत हाथ मिले हैं। इससे नक्सली के मंशा साफ हो गई है।

कुंदन पाहन को सामान पहुंचाने का काम किया करते हैं

खूंटी व अड़की इलाके में नक्सली नेता कुंदन पाहन गिरोह की सरगर्मी बढ़ गई है। उनकी दस्ता एक दूसरी वारदात को अंजाम देने के लिए यहां अपनी सरगर्मी बढ़ाई हैं। नक्सली ने अपने वारदात को अंजाम देने के लिए 10 हजार रूपए के तनख्वाह पर बड़ी तादाद पर लोगों को रख लिया है। वे इत्तेला का तबादला करने के साथ साथ वारदात को अंजाम देने के लिए जरुरी सामान भी दस्ता को पहुंचाने का काम करते हैं।

इस बात का इत्तेला पुलिस की गिरफ्त में आए तीन अरकान ने पूछताछ के सिलसिले में किया है। तीनों सख्स अड़की थाना इलाके के रहने वाले हैं। इनमें कोर्रा गांव रिहायसी मांगा सामद उर्फ मंगा मुंडा उर्फ मंगल, जोंगरो गांव रिहायसी हनुक कंडीर और लुदुबेड़ा गांव रिहायसी लोंबा सामद शामिल हैं।

TOPPOPULARRECENT