Monday , August 21 2017
Home / Khaas Khabar / 12 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात तहरीक के ज़रीये के सी आर को वादे की याद-दहानी

12 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात तहरीक के ज़रीये के सी आर को वादे की याद-दहानी

हैदराबाद 02 अक्तूबर: रियासत तेलंगाना में मुस्लमानों को 12 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात की तहरीक, एहतेजाज की शक्ल इख़तियार कर गई है। तेलंगाना मुस्लिम जवाइंट एक्शण कमेटी की तरफ से इंदिरा पार्क धरना चौक पर 12 फ़ीसद मुस्लिम तहफ़्फुज़ात के हक़ में ज़बरदस्त एहतेजाज किया गया।

इस धरना प्रोग्राम से न्यूज़ एडीटर सियासत आमिर अली ख़ां ने ख़िताब करते हुए कहा कि तहफ़्फुज़ात मुस्लमानों का हक़ है और मुस्लमानों के इस नाज़ुक और हस्सास मस्ले को उठाने को अगर हुकूमत मुख़ालिफ़त तसव्वुर करती है तो फिर ये हुकूमत की नादानी होगी। आमिर अली ख़ां जो 12 फ़ीसद मुस्लिम तहफ़्फुज़ात तहरीक जिसको सियासत ने शुरू किया है, इस तहरीक के रूह-ए-रवाँ हैं, इस बात को एहतेजाजी धरने में फिर एक-बार वाज़िह कर दिया कि 12 फ़ीसद मुस्लिम तहफ़्फुज़ात की तहरीक ना ही किसी की मुख़ालिफ़त में है और ना ही किसी की हिमायत में है बल्कि 12 फ़ीसद मुस्लिम तहफ़्फुज़ात की तहरीक सिर्फ और सिर्फ मुस्लमानों के हक़ में है और मुस्लमानों की फ़लाह-ओ-बहबूद के लिए चलाई जा रही है।

उन्होंने कहा कि अब जबकि ख़ुद चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना ने मुस्लमानों को12 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात देने का वादा किया है, इस वादे पर जल्द अज़ जल्द अमल आवरी और बी सी कमीशन की सिफ़ारिश के ज़रीये तहफ़्फुज़ात की फ़राहमी के लिए दबाओ डाला जा रहा है ताके मुस्लमानों को दी जाने वाली मुराआत में कोई क़ानूनी रुकावट ना आए।

उन्होंने कहा कि एक तरफ़ आला तालीम तक पहूंचने में मुस्लमानों को मआशी रुकावट का सामना है तो दूसरी तरफ़ जो मुस्लिम नौजवान आला तालीम-ए-याफ़ता हैं, उन्हें रोज़गार का मस्ला लाहक़ होता जा रहा है।

रियासती हुकूमत ने एक लाख 7 हज़ार मुलाज़िमतों पर तक़र्रुत का इरादा किया और ताहाल कई हज़ार जायदादों पर तक़र्रुत के इक़दामात शुरू हो गए।

आज ही 1200 एग्जीक्यूटिव इंजीनियरस के तक़र्रुत का एलान हुआ। अगर तक़र्रुत आहिस्ता-आहिस्ता जारी रहते हैं तो फिर तहफ़्फुज़ात का आइन्दा 10 साल तक मुलाज़िमतों के लिए कोई फ़ायदा नहीं होगा, लिहाज़ा सियासत चाहता हैके जो वादा किया गया है, इस वादे को अगर तक़र्रुत से पहले बी सी कमीशन की सिफ़ारिश से पूरा कर लिया जाता है तो मुस्लिम क़ौम की तरक़्क़ी को यक़ीनी बनाया जा सकता है।

TOPPOPULARRECENT