Saturday , August 19 2017
Home / Jharkhand News / 13 ठिकानों पर छापेमारी, शारदा ग्रुप के यहां ब्लैक मनी को सफेद करने के सुबूत मिले

13 ठिकानों पर छापेमारी, शारदा ग्रुप के यहां ब्लैक मनी को सफेद करने के सुबूत मिले

रांची : इन्कम टैक्स की तहक़ीक़ात शाख ने ‘आयरन ओर’ व्यापारी संजय शारदा व उससे मुतल्लिक़ लोगों के खिलाफ रांची, जमशेदपुर, रामगढ़, कोलकाता और बड़ा जामदा के कुल 13 ठिकानों पर छापा मारा। छापेमारी में मिले दस्तावेज से इस बात की जानकारी मिली है कि इस ग्रुप ने करीब 15 करोड़ रुपये की काली कमाई को इंट्री के जरिये व्हाइट किया है। इसके अलावे 50 लाख रुपये नगद जब्त किये गये। इसमें 15 लाख रुपये शारदा व 35 लाख रुपये टिकमानी के ठिकानों से जब्त किये गये। कोड़ा ग्रुप के साथ भी शारदा ग्रुप के दो ठिकानों पर छापेमारी हुई थी।

इन्कम टैक्स एडिशनल डाइरेक्टर अरविंद कुमार की हिदायत पर शारदा ग्रुप व उससे जुड़े ठिकानों पर छापेमारी की गयी। छापेमारी में एसिस्टेंट डाइरेक्टर मयंक मिश्रा, रंजीत मधुकर समेत 100 से ज़्यादा अफसर शामिल हैं। आईटी अफसरो ने दिन के करीब 11 बजे शारदा ग्रुप और उससे जुड़े लोगों के रांची के चार, रामगढ़ के दो, जमशेदपुर के दो, बड़ा जामदा के तीन और कोलकाता के दो ठिकानों पर छापा मारा। शारदा ग्रुप की तरफ से ‘देवुका भाई बेलजी’ के नाम से आयरन ओर का कारोबार किया जाता है। नागपुर के रहने वाले देवुका भाई बेलजी के नाम झारखंड में आयरन ओर खदान है। हालांकि बेलजी की मौत की वजह से खदान के लीज का मामला तनाज़ो में उलझा हुआ है।

शारदा ग्रुप की कई कंपनियां चलाई जाती हैं। इसमें कामेश्वर अलॉय, आरजे इंफ्रा रियलटी, रिकल वाणिज्य, योगिता साफ्टवेयर, श्री राम पावर, जयश्री रियालटी, मलिनाथ ट्रेडेर्स और शिव शक्ति मिनरल्स के नाम शामिल हैं। आईटी अफसरों ने शारदा के आरजे रियलिटी नामी कंपनी में डाइरेक्टर रहे निखिल टिकमानी को भी छापामारी के दायरे में शामिल किया है। इसके अलावा जमशेदपुर के ट्रांसपोर्टर रवि प्रकाश ओझा के घर और दफ्तर पर भी छापा मारा। इस ट्रांसपोर्टर के घर के कई कमरे बंद हैं। इन्हें खोलने के लिए ट्रांपोर्टर के बक्सर से लौटने का इंतजार किया जा रहा है। मुखतलिफ़ ठिकानों पर छापामारी के दौरान मिले दस्तावेज से इस बात की जानकारी मिली है कि शारदा ग्रुप ने करीब15 करोड़ रुपये की काली कमाई के व्हाइट किया है। तहक़ीक़ात में पाया गया है कि शारदा ग्रुप ने कोलकाता की कंपनियों की मदद से इंट्री के सहारे काले धन को व्हाइट किया है।

आईटी अफसरों ने शारदा ग्रुप के रामगढ़ वाकेय श्री राम पावर और कामेश्वर अलॉय नामक कंपनी में पाये गये स्टाक के तजवीज के लिए वैलुअर को भेजा है। गुजिशता दिनों दिल्ली आईटी महकमा की तरफ से की गयी छापामारी के दौरान रांची आईटी महकमा को इस बात की इत्तिला मिली थी कि बजरंग शारदा शिव शक्ति मिनरल्स चलाते हैं। यह कंपनी माल बेचने के बाद आधा पैसा चेक और आधा पैसा नकद लेती है। जुमा को शुरू हुई छापामारी सनीचर तक चलने की इमकान है।

जिनके ठिकानों पर छापा पड़ा

संजय शारदा, बजरंग शारदा, श्रवण शारदा, निखिल टिकमानी
हरिओम टावर,रांची – संजय शारदा और निखिल टिकमानी के फ्लैट में
सनराइज फोरम, रांची- शारदा ग्रुप का दफ्तर
गोपाल कांप्लेक्स, रांची – निखिल टिकमानी का दफ्तर
नया मोड़, रामगढ़- श्री राम पावर एंड स्टील
गोला, रामगढ़- कामेश्वर अलॉय प्रावेट लिमिटेड
एमपी टावर के पास, जमशेदपुर- रवि प्रकाश ओझा का घर और दफ्तर
बड़ा जामदा- शारदा का घर, क्रशर और दफ्तर
प्रियनाथ मलिक रोड,कोलकाता- श्रवण शारदा का घर
128-बी. हाजरा रोड- शारदा ग्रुप का दफ्तर

TOPPOPULARRECENT