Tuesday , September 26 2017
Home / Khaas Khabar / 2014-15के दौरान मर्कज़ी मुलाज़िमतों में 9,303 अक़िलियतों की भर्ती

2014-15के दौरान मर्कज़ी मुलाज़िमतों में 9,303 अक़िलियतों की भर्ती

अवामी बैंकों में 5,572 नियम फ़ौजी फ़ोर्सस में 2,303 तक़र्रुत लोक सभा में बंडारु दत्तात्रेय का बयान
नई दिल्ली: पार्लियामेंट को मतला किया गया कि मालीयाती साल 2014-15 के दौरान मर्कज़ी हुकूमत अवामी शोबे के इदाराजात और बैंकों में अक़िलियती तबक़ात से ताल्लुक़ रखने वाले 9,303 अफ़राद की भर्तियां की गईं। वज़ीर मेहनत बंडारुबंदरु दत्तात्रेय ने तहरीर जवाब में लोक सभा को मतला किया कि मुल्क भर में अक़िलीयती तबक़ात के अफ़राद के लिए मुख़तस 8.5 फ़ीसद जायदादों के तहत 9,303तक़र्रुत किए गए।

वज़ीर मेहनत के बयान के मुताबिक़ सरकारी हुकूमत की विज़ारतों महिकमाजात और मुताल्लिक़ा दफ़ातिर में गुज़िशता मालीयाती साल के दौरान अक़िलियती तबक़ात से ताल्लुक़ रखने वाले 651 अफ़राद के तक़र्रुत किए गए। अवामी शोबे के बैंकों और मालीयाती इदारा जात में अक़िलियती तबक़ात से ताल्लुक़ रखने वाले 5,572 अफ़राद की भर्तियां किए हैं।

नियम फ़ौजी फ़ोर्सस में अक़िलियती तबक़ात से ताल्लुक़ रखने वाले 2,303 अफ़राद की भर्तियां अमल में आएं। महिकमा डाक ने गुज़िशता मालियाती साल 777 अक़िलियती अफ़राद के तक़र्रुत किए ताहम अवामी शोबे के इदारा जात में ऐसी भरतीयों की जामि तफ़सीलात दस्तयाब नहीं है।

1992 के क़ौमी कमीशन बराए अक़िलियत क़ानून के तहत अक़िलियती तबक़ात में मुसलमानों के अलावा सुख ईसाई बुध पार्सी और जैन शामिल हैं। वाज़िह रहे कि सरकारी हुकूमत के मुख़्तलिफ़ महिकमाजात के अलावा बैंकों और नियम फ़ौजी फ़ोर्सस में अक़िलियतों के तक़र्रुत को यक़ीनी बनाने के लिए माज़ी में यू पी ए हुकूमत की जानिब से इक़दामात किए गए थे।

इस ज़िमन में सच्चर कमेटी की सिफ़ारिशात को रोबामल लाते हुए अक़िलियतों की भरतीयों को यक़ीनी बनाने की कोशिश की गई थी|

TOPPOPULARRECENT