Sunday , August 20 2017
Home / Bihar News / 25 साल बाद सदाकत आश्रम में बजे ढोल-नगाड़े

25 साल बाद सदाकत आश्रम में बजे ढोल-नगाड़े

 

पटना : काउंटिंग में अज़ीम इत्तिहाद को मिलनेवाले सीटों के रूझान पर कांग्रेस कारकुनान में खुशी देखते ही बन रही थी। महागंठबंधन के बढ़ते रूझान से साफ हो रहा था कि कांग्रेस को भी कामयाबी मिल रही है। सुबह दस बजे तक कांग्रेस के 16 उम्मीदवार बढ़त बनाये हुये थे।

इसके बाद से कांग्रेस लीडरों व कार्यकर्ताओं में खुशी की लहर दिखने लगी थी। कुछ ही देर बाद बहादुरगंज से कांग्रेस उम्मीदवार तौसीफ आलम की जीत की खुशी ने कारकुनान का हौसला बढ़ा दिया। इसके बाद वक़्त बढ़ने के साथ कांग्रेस उम्मीदवारों की जीत की यकीन देख कांग्रेसी खेमे में अजीब जोश छाने लगा। ऐसे में रियासत कांग्रेस सदर डॉ अशोक चौधरी की मौजूदगी ने लीडरों व कारकुनान के जोश को बढ़ाने में मदद किया। कांग्रेस के बढ़ते सीटों के को देखते हुए फिर क्या था रियासती कांग्रेस हेड क्वार्टर में भी पटाखे छोड़े जाने लगे। जोश में कारकुनान कांग्रेस का झंडा लहराने लगे।

कर्कुनान जोश में रियासती सदर को साथ रखना छोड़ नहीं रहे थे। मौके पर एच के वर्मा, हरखू झा, विनोद सिंह यादव, उदय शर्मा, सुमन कुमार मल्लिक, प्रदीप चौधरी, सुबोध कुमार, निशांत झा सहित बड़ी तादाद में लीडर व कारकुनान साढ़े ग्यारह बजे रियासती कांग्रेस हेड क्वार्टर सदाकत आश्रम में ढोल नगाड़े भी बजने लगे।

ढोल की थाप पर लीडर व कारकुनान भी थिरकने लगे। कांग्रेसी लीडरों ने कहा कि 25 साल बाद ऐसी खुशी देखने को मिल रही है। अरसे बाद सदाकत आश्रम में ढोल-नगाड़े बजे हैं। ऐसा नहीं है कि पहले नहीं बजा हो, लेकिन गुजिशता  25 साल में इतनी बड़ी कामयाबी नहीं मिली थी। तौसीफ आलम की जीत की जानकारी मिलने पर रियासती सदर अशोक चौधरी का मुंह मीठा कराया गया। फिर लीडरों व कारकुनान में मिठाईयां बंटी।

 

TOPPOPULARRECENT