Saturday , August 19 2017
Home / Bihar/Jharkhand / जमेशदपुर : तीन मुस्लिम पशु व्यापारियों की बेरहमी से हत्या, करीब 100 लोगों ने बच्चा चोर समझकर उतारा मौत के घाट

जमेशदपुर : तीन मुस्लिम पशु व्यापारियों की बेरहमी से हत्या, करीब 100 लोगों ने बच्चा चोर समझकर उतारा मौत के घाट

जमशेदपुर। जमेशदपुर जिले में छह गाँवों के करीब 100 लोगों की भीड़ द्वारा 3 मवेशी व्यापारियों की हत्या करने का मामला सामने आया है। पुलिस ने इस मामले में आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है। यह मामला सरायकेला के राजनगर इलाके का है।

 

गुरुवार को सुबह के करीब चार बजे शेख हलीम, शेख सज्जू, शेख सिराज और शेख नईम दो गाड़ियों से राजनगर इलाके से गुजर रहे थे। उस इलाके में बच्चा चोरी की कई वारदातें हो रही थीं तो लोगों को लगा कि ये लोग बच्चा चुराने वाला गैंग है। हेज़ल गांव के पास कुछ लोगों ने गाड़ियों को रोकने की कोशिश की लेकिन वे नहीं रुकी।

 

इसके बाद भीड़ ने गाड़ी का पीछा कर उसे डारु गांव में जबरदस्ती रुकवा लिया।
गाड़ी के रुकते ही उग्र भीड़ ने सबसे पहले नईम पर हमला किया। भीड़ ने बहुत ही बेरहमी के साथ नईम के साथ मारपीट की। इसी बीच हलीम, सज्जू और सिराज को वहां से भागने का मौका मिल गया।

 

 

सुबह के करीब 6 बजे आस-पास के गांवों के लोग तीनों की तलाश करते रहे। शोभापुर गांव के पास भीड़ ने सिराज और सज्जू को पकड़ लिया। इसके बाद भीड़ ने उनकी भी पीट-पीटकर हत्या कर दी। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस भीड़ में 6 गांवो के करीब 100 लोग थे जिन्होंने बहुत ही बेरहमी के साथ तीन मवेशी व्यापारियों की हत्या की।

 

 

इसके बाद एक स्थानीय निवासी ने इस मामले की शिकायत पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने भीड़ को शांत कराने की कोशिश की लेकिन भीड़ ने पुलिसवालों पर ही हमला कर दिया। वहीं पुलिस की एक टीम को नईम घायल अवस्था में मिला, जिसके बाद पुलिस उसे सरायकेला सब-डिवीज़नल अस्पताल में ले गई, जहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

 

 

इस मामले की जानकारी देते हुए एक अधिकारी ने कहा कि इस इलाके में कई दिनों से बच्चा चोरी की वारदातें हो रही हैं इसलिए लोग पहरा देते हैं। पिछले हफ्ते भी इस इलाके में दो मवेशी व्यापारियों को बच्चा चोर समझकर उनकी हत्या कर दी गई थी।

TOPPOPULARRECENT