Friday , October 20 2017
Home / India / 33 दिन 33 साल के बराबर थे

33 दिन 33 साल के बराबर थे

ओडीशा के रुकन असेंबली झीना हक़्क़ाका की अहलिया (पत्नी) कौशल्या ने कहा कि माविस्टों ने उन के शौहर को 33 दिन तक उन्हें यरग़माल बनाकर रखा था लेकिन इनके लिए ये 33 दिन 33 साल के बराबर थे । माविस्टों ने मग़्विया एम एल ए को आज रिहा कर दिया है ।

ओडीशा के रुकन असेंबली झीना हक़्क़ाका की अहलिया (पत्नी) कौशल्या ने कहा कि माविस्टों ने उन के शौहर को 33 दिन तक उन्हें यरग़माल बनाकर रखा था लेकिन इनके लिए ये 33 दिन 33 साल के बराबर थे । माविस्टों ने मग़्विया एम एल ए को आज रिहा कर दिया है ।

अपने शौहर की रिहाई के लिए कौशल्या ने परज़ोर अपील की थी । उन्होंने रियास्ती हुकूमत के रोल पर ख़ामोशी इख्तेयार की और कहा कि ख़ुदा की मेहरबानी से उन के शौहर दुबारा उन के साथ हैं ।

TOPPOPULARRECENT