Wednesday , August 23 2017
Home / India / 5 घंटे तक एम्बुलेंस न मिलने पर भाई हुआ शव को कबाड़ ढोने वाले रिक्शा में ले जाने को मजबूर

5 घंटे तक एम्बुलेंस न मिलने पर भाई हुआ शव को कबाड़ ढोने वाले रिक्शा में ले जाने को मजबूर

PC: Jansatta

मध्यप्रदेश: छतरपुर के सिटी कोतवाली थाना के बसारी दरवाजा संकटमोचन मार्ग पर एक युवक के शव को अस्‍पताल ले जाने के लिए एंबुलेंस न मिलने के कारण उसके भाई को मजबूरन भाई के शव को कबाड़ ढोने के रिक्‍शे में 2 किलोमीटर दूर अस्‍पताल ले जाना पड़ा। अस्पताल से पोस्‍ट मार्टम कराने के बाद भी उसी रिक्‍शे में डालकर शव को घर भी लेकर गया।

जनसत्ता की खबर के मुताबिक बताया जा रहा है कि 25 साल के गफ्फार की मौत एक सड़क हादसे में हुई हैं वहीँ कुछ लोगों का कहना है कि गफ्फार शराबी था और नशे में किसी वाहन से टकरा गया था। जिससे उसे चोट लगी और वो वहीँ चबूतरे पर ठंड में पड़ा रहा जिस कारण उसकी मौत हो गई। सुबह वहां पहुंचे एक सफाईकर्मी ने शव देखा और इसकी जानकारी पुलिस को दी।

पुलिस ने मामला दर्ज किया और शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल ले जाने के एम्बुलेंस को बुलाया। लेकिन काफी देर तक एम्बुलेंस नहीं पहुंची और शव के पास बैठी उसकी बूढी माँ लगातार रो रही थी। लेकिन वहां कोई भी गाडी मदद के लिए आगे नहीं आई। 5 घंटे के इंतज़ार के बाद भी जब वहां कोई एम्बुलेंस या गाडी नही आई तो मृतक के भाई ने कबाड़ ढोने वाले रिक्‍शे के जरिए शव को अस्‍पताल पहुंचाया। इस मामले में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी वीके गुप्‍ता ने बताया कि हमारे पास शव वाहन नहीं है और शहरी इलाके में यह व्यवस्था नगरपालिका की है।

TOPPOPULARRECENT