Saturday , August 19 2017
Home / Khaas Khabar / मेरठ में एंटी रोमियो स्क्वॉड की मोरल पुलिसिंग शुरू

मेरठ में एंटी रोमियो स्क्वॉड की मोरल पुलिसिंग शुरू

मेरठ। योगी आदित्यनाथ के सीएम बनने के बाद ही भाजपा के एक चुनावी वादे के मुताबिक़ महिलाओं के सम्मान की रक्षा के लिए मेरठ में एंटी रोमियो स्क्वॉड की मोरल पुलिसिंग शुरू हो गई है।

इस अभियान के तहत एंटी रोमियो स्क्वॉड का गठन कर शैक्षिक संस्थानों और सार्वजनिक स्थानों पर तैनात किया जाएगा ताकि लड़कियों के साथ होने वाली छेड़छाड़ को रोका जा सके।

दरअसल भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने वादा किया था कि यूपी में सत्ता में आए तो लड़कियों और छात्राओं को मनचलों से बचाने के लिए ख़ास दस्ता बनाएंगे। पुलिस की शिकायत मिलने पर ये टीमें सक्रिय हो जाएँगी। मेरठ जिले के प्रत्येक पुलिस स्टेशन से तीन-चार सदस्यों वाला रोमियो विरोधी दल होगा। अधिक जनसंख्या वाले पुलिस स्टेशनों में चार से अधिक सदस्यों के साथ एक से अधिक एंटी-रोमियो दस्ते हो सकते हैं।

लखनऊ ज़ोन के 11 जिलों में से प्रत्येक में टीमों का गठन करने के लिए आईजी कार्यालय से आदेश आये थे। दस्तों की तैनाती के पहले दिन स्कूलों, कॉलेजों, सिगरेट स्टालों और पेस्ट्री की दुकानों के आसपास घूमते लड़कों से पूछताछ क़ी गई। पुलिस ऐसी गतिविधियों में लिप्त पाए गए लड़कों के माता-पिता को फोन कर उन्हें इनकी गतिविधियों के बारे में सूचित करेगी।

पुलिस ने एक लड़के को पकड़ा था जिसने कहा कि यह उत्पीड़न है। मैं एक दोस्त से मिलने के लिए डीएन कॉलेज के बाहर खड़ा था और पुलिस ने मुझे चेतावनी दी थी। वे मेरे माता-पिता को फोन करना चाहते थे लेकिन मैंने उन्हें सही नंबर नहीं दिया। उन्हें यह भी पता नहीं था कि क्या मुझे एक लड़की या लड़के से मिलना था। उनके लिए तो बाइक पर सवार कोई भी युवा ‘मजनू’ ही दिखता है।

एक अभिभावक ने कहा कि यह तय करना पुलिस का काम नहीं है कि लड़के कहाँ खड़े हो सकते हैं और कहां नहीं। मेरा बेटा 19 वर्ष का है और वह वयस्क है। एक पिता को यह कहना कि उसका बेटा आवारा घूम रहा है, गलत है।

TOPPOPULARRECENT