Sunday , April 30 2017
Home / Khaas Khabar / सिर्फ मुस्लिम ही नहीं, ईसाई और महिला विरोधी रूख के लिए भी जाने जाते हैं योगी आदित्यनाथ

सिर्फ मुस्लिम ही नहीं, ईसाई और महिला विरोधी रूख के लिए भी जाने जाते हैं योगी आदित्यनाथ

आदित्यनाथ के सीएम बनने के बाद से ही सोशल मीडिया पर समाज में नफ़रत फैलाने वाले उनके पुराने बयानों की खूब आलोचना हो रही है। इसमें कोई दो राय नहीं है कि योगी की शख्सियत एक मुस्लिम विरोधी के तौर पर है लेकिन वे सिर्फ मुस्लिम विरोधी ही हैं ऐसा बिल्कुल भी नहीं है।
मुस्लिमों से इतर योगी को ईसाइयों और महिलाओं की बराबरी और अधिकार से भी खासा एलर्जी रही है। ऐसा हम नहीं कह रहे बल्कि इसका ज़िक्र वे खुद अपने बयानों में कर चुके हैं। ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि योगी पीएम मोदी के ‘बेटी बचाव बेटी पढ़ाव के लक्ष्य को कैसे हासिल करेंगे?
सिर्फ मुस्लिम विरोधी ही नहीं बल्कि ईसाई और महिला विरोधी बयान भी दे चुकें हैं योगी आदित्यनाथ
– योगी आदित्यनाथ कई बार मदर टेरेसा पर भारत के लोगों का धर्म परिवर्तन कराकर ईसाई बनाने की साजिश करने का आरोप लगा चुके हैं। इसके साथ ही 2015 में आरएसएस प्रमुख मोहन भगवत ने मदर टेरेसा पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि उनकी गरीबो को दी जाने वाली सेवा बच्चों को ईसाई बनाने के मक़सद से दी जा रही है।
– योगी के मुताबिक़ महिलाओं को ज़िन्दगी भर एक पुरुष की ज़रूरत पड़ती है जो उनकी हिफाज़त कर सके। योगी की वेबसाइट पर मौजूद कुछ लेखों में वो कहते हैं कि महिलाओ को हमेशा नियंत्रण में रखना चाहिए। 
– इसके अलावा आदित्यनाथ कई बार महिलाओं को मिलने वाले आरक्षण के विरोध में भी बोंल चुके हैं। उनके मुताबिक़ औरतों को पुरूषों की तरह राजनीति में आने बजाय एक माँ और बहन की ज़िम्मेदारी उठानी चाहिए।
– आदित्यनाथ ने कहा था कि अगर पुरुष महिलाओं की विशेषताए अपना लेंगे तो वे भगवान बन जाएंगे लेकिन महिलाएं अगर पुरुषों की विशेषताए अपनाएंगी तो वे राक्षस बन जाएंगी।
-आदित्यनाथ महिलाओं को मिलने वाले बराबरी के अधिकार पर लिखते हैं कि पश्चिमी देशों का नारीवाद का विचार हमारे देश को काफी नुकसान पहुंचा सकता है। पश्चिमी देशो में नारी की स्वतंत्रता के नाम पर घर-परिवार को तोड़ा जाता है और यह हमारे राष्ट्रनिर्माण के बाधक है।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT