Tuesday , May 23 2017
Home / India / अजमेर ब्लास्ट: असीमानंद सहित 7 आरोपियों के खिलाफ़ आज अदालत सुना सकती है फैसला

अजमेर ब्लास्ट: असीमानंद सहित 7 आरोपियों के खिलाफ़ आज अदालत सुना सकती है फैसला

जयपुर। एनआईए की विशेष अदालत आज अजमेर की ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह में हुए बम विस्फोट के मामले में आज फैसला सुना सकती है।

इससे पहले अदालत 25 फरवरी को इस मामले में फैसला सुनाने वाली थी। दस्तावेजों और बयानों को पढ़ने और फैसला लंबा होने के कारण लिखने में समय लगने की वजह से अदालत ने फैसला सुनाने के लिए 8 मार्च की तारीख तय की थी।

11 अक्टूबर 2007 को दरगाह परिसर में हुए बम विस्फोट में तीन जायरीन मारे गये थे और पंद्रह जायरीन घायल हो गये थे। विस्फोट के बाद पुलिस को तलाशी के दौरान एक लावारिस बैग मिला था जिसमे टाईमर डिवाईश लगा जिंदा बम रखा हुआ था।

इस मामले में एनआईए ने तेरह आरोपियों के खिलाफ चालान पेश किया था। इनमें से आठ आरोपी साल 2010 से न्यायिक हिरासत में बंद हैं। न्यायिक हिरासत में बंद आठ आरोपी स्वामी असीमानंद ,हषर्द सौलंकी, मुकेश वासाणी, लोकेश शर्मा, भावेश पटेल, मेहुल कुमार ,भरत भाई, देवेन्द्र गुप्ता है। एक आरोपी चन्द्र शेखर लेवे जमानत पर है।

वहीँ एक अन्य आरोपी सुनील जोशी की हत्या हो चुकी है और तीन आरोपी संदीप डांगे, रामजी कलसांगरा और सुरेश नायर फरार हैं। इस मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से 149 गवाहों के बयान दर्ज करवाए गये लेकिन अदालत में गवाही के दौरान कई गवाह अपने बयान से मुकर गये। राज्य सरकार ने मई 2010 में मामले की जांच राजस्थान पुलिस की एटीएस शाखा को सौंपी थी।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT